गाजियाबाद के सागर का अनोखा जुनून:देश-दुनिया की चोटियों पर तिरंगा फहराकर जनसंख्या नियंत्रण का संदेश दे रहे; माउंट कांग यात्से-2 को फतह करने के बाद अब अमेरिका जाएंगे

गाजियाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गर कसाना ने 6 अक्तूबर को लद्दाख के हिमालय की मरखा खाटी में स्थित माउंट कांग यात्से-2 की चोटी पर तिरंगा फहराया है। - Dainik Bhaskar
गर कसाना ने 6 अक्तूबर को लद्दाख के हिमालय की मरखा खाटी में स्थित माउंट कांग यात्से-2 की चोटी पर तिरंगा फहराया है।

यूपी में गाजियाबाद जिले के निवासी अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही सागर कसाना ने 6 अक्तूबर को लद्दाख के हिमालय की मरखा खाटी में स्थित माउंट कांग यात्से-2 की चोटी पर तिरंगा फहराया है। यह चोटी समुद्र तल से 20750 फुट ऊंचाई पर स्थित है। माइनस तापमान और बफीर्ली हवाओं के बीच सागर अपने पांच सदस्यीय दल के साथ पांच दिन की यात्रा के बाद चोटी पर पहुंचे। वह देश-दुनिया की तमाम ऊंची चोटियों पर तिरंगा फहराकर जनसंख्या नियंत्रण का भी संदेश दे रहे हैं।

कुछ दिन पहले सागर ने हिमाचल की सबसे ऊंची चोटी फतह की थी।
कुछ दिन पहले सागर ने हिमाचल की सबसे ऊंची चोटी फतह की थी।

सागर की उपलब्धियां

  • 19 सितंबर को हिमाचल प्रदेश की सबसबे लंबी पर्वत श्रंखला पीर पंजाल की माउंट फ्रेंडशिप चोटी पर तिरंगा फहराया।
  • अफ्रीका खंड की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो और यूरोप खंड की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर तिरंगा लहराया।
  • माउंट एवरेस्ट समेत कश्मीर, लद्दाख, लेह, उत्तराखंड, अरुणांचल प्रदेश की ज्यादातर चोटियों को फतह किया।
  • साल 2021 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उप्र का राज्य स्तरी विवेकानंद अवार्ड प्रदान किया।
  • गाजियाबाद नगर निगम में सागर को स्वच्छता मिशन का ब्रांड एंबेसडर बनाया गया।
सागर कसाना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सम्मानित कर चुके हैं।
सागर कसाना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सम्मानित कर चुके हैं।

'देश सुधारने को जनसंख्या नियंत्रण जरूरी'
अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही सागर कसाना का कहना है कि वह जब भी चोटी फतह करने जाते हैं तो तिरंगे के साथ जनसंख्या नियंत्रण के कुछ पोस्टर भी साथ लेकर जाते हैं। तिरंगे संग जनसंख्या नियंत्रण के पोस्टर लहराकर वह पूरे देश-दुनिया को संदेश देना चाहते हैं। उनका मानना है कि अधिक जनसंख्या ने हमारे देश के विकास की गति बेहद धीमी कर दी है। इससे गरीबी बढ़ी है। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहे हैं। जनसंख्या नियंत्रण से ही देश के हालात सुधर सकते हैं।
अगला टारगेट अमेरिका का माउंट एकंकागुआ
सागर कसाना का अगला लक्ष्य माउंट एकंकागुआ है। ये चोटी साउथ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी है, जो 22000 फीट ऊंची है। सागर कसाना ने कहा है कि जनसंख्या नियंत्रण और स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा।