गाजियाबाद...हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू करना सीख रहे NDRF जवान:मानेसर के NSG कैंप में शुरू हुई स्पेशल ट्रेनिंग, BSF के हेलीकॉप्टर से उतरना और चढ़ना सिखाया जा रहा

गाजियाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मानेसर स्थित एनएसजी कमांडो कैंप में एनडीआरएफ के जवानों को हेलीकॉप्टर पर चढ़ने व उतरने की ट्रेनिंग दी जा रही है। - Dainik Bhaskar
मानेसर स्थित एनएसजी कमांडो कैंप में एनडीआरएफ के जवानों को हेलीकॉप्टर पर चढ़ने व उतरने की ट्रेनिंग दी जा रही है।

बाढ़ आने अथवा बिल्डिंग गिरने की स्थिति में कई बार वहां तक पहुंचना मुश्किल होता है। इस मुश्किल को दूर करने के लिए NDRF (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की सभी बटालियनों के 67 जवान हरियाणा में मानेसर स्थित एनएसजी कमांडो कैंप में ट्रेनिंग ले रहे हैं। उन्हें बताया जा रहा है कि वे हेलीकॉप्टर से कैसे नीचे उतरें और कैसे रेस्क्यू शुरू करें। दो दिवसीय ट्रेनिंग बुधवार और गुरुवार को चलेगी। इसमें देशभर की 16 एनडीआरएफ बटालियनों के 67 जवान हिस्सा ले रहे हैं। गाजियाबाद स्थित एनडीआरएफ की आठवीं बटालियन से 4 पुरुष और 5 महिला जवान इस ट्रेनिंग में गए हैं। इससे पहले सभी 67 जवानों की दो दिवसीय ड्राइव प्रैक्टिस गाजियाबाद एनडीआरएफ बटालियन में कराई गई थी।

इस ट्रेनिंग कैंप में गाजियाबाद एनडीआरएफ से भी नौ जवान गए हैं।
इस ट्रेनिंग कैंप में गाजियाबाद एनडीआरएफ से भी नौ जवान गए हैं।

रोप रेस्क्यू की टैक्निक बताई जा रही
एनडीआरएफ के पीआरओ नरेश चौहान ने बताया, मानेसर स्थित एनएसजी कैंप में एनडीआरएफ के 67 जवानों को रोप रेस्क्यू की टैक्निक बताई जा रही है। बीएसएफ के हेलीकॉप्टर में जवानों को चढ़ना और फिर उतरना सिखाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि यदि कोई बिल्डिंग गिर जाए और वहां हेलीकॉप्टर से उतरकर बचाव-राहत कार्य शुरू करना हो तो कैसे करें।

आने वाले दिनों में एनडीआरएफ भी सेना की तर्ज पर रेस्क्यू किया करेगी।
आने वाले दिनों में एनडीआरएफ भी सेना की तर्ज पर रेस्क्यू किया करेगी।

केदारनाथ प्रलय में इसी तरह बचाई थी सैकड़ों जिंदगियां
एनडीआरएफ के जवानों को पहली बार इस तरह के रेस्क्यू में केदारनाथ में आई प्रलय में भेजा गया था। उत्तराखंड के तमाम होटल-भवन ऐसे थे जो बाढ़ में घिरे हुए थे और उनके अंदर तमाम लोग फंसे हुए थे। एनडीआरएफ ने हेलीकॉप्टर से उस वक्त ऐसे ही रेस्क्यू करके सैकड़ों लोगों की जिंदगी बचाई थी। वैसे तो भारतीय सेना भी इस तरह के ऑपरेशन चलाती है। लेकिन सेना के ज्यादातर ऑपरेशन में वह हेलीकॉप्टर से एक रस्सा नीचे फेंकते हैं और लोगों को ऊपर खींच लेते हैं। एनएसजी कैंप में हो रही इस ट्रेनिंग में कॉलेप्स बिल्डिंग के ऊपर उतरना, अंदर रेस्क्यू करना और फिर बाहर लोगों को निकालकर लाना सिखाया जा रहा है।