गाजियाबाद...घर में घुसकर महिला की कनपटी में चाकू घोंपा:घुसे हुए चाकू समेत बाइक पर बैठकर अस्पताल पहुंची लहूलुहान महिला, पुलिस ने 2 संदिग्ध हिरासत में लिए

गाजियाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कनपटी में घुसे हुए चाकू सहित महिला बाइक पर बैठकर इलाज कराने अस्पताल पहुंची। यह दृश्य देखकर डॉक्टर और कर्मचारी भी दंग रह गए। - Dainik Bhaskar
कनपटी में घुसे हुए चाकू सहित महिला बाइक पर बैठकर इलाज कराने अस्पताल पहुंची। यह दृश्य देखकर डॉक्टर और कर्मचारी भी दंग रह गए।

यूपी के जिला गाजियाबाद में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। एक बदमाश ने घर में घुसकर महिला की कनपटी में चाकू घोंप दिया। घुसे हुए चाकू को लेकर घायल महिला बाइक पर बैठकर अस्पताल पहुंची और इलाज कराया। हमलावर फरार हो गया। वारदात क्यों हुई, यह स्पष्ट नहीं हो पाया। फिलहाल पुलिस ने दो संदिग्धों को हिरासत में ले रखा है।
खाना खाकर सोई थी महिला, कुछ देर बाद हमला
यह मामला लिंक रोड थाना क्षेत्र में महाराजपुर इलाके का है। यहां रहने वाली शहनाज एक कोठी में काम करती है। शहनाज का पति असलम अंसारी ई-रिक्शा चलाता है। शहनाज के अनुसार, गुरुवार दोपहर ढाई बजे खाना खाने के बाद वह सो गई। बच्चे गेट खोलकर बाहर खेलने चले गए। शाम करीब पौने चार बजे एक अज्ञात व्यक्ति खुले दरवाजे से अंदर आ घुसा। उसने चाकू मारा जो शहनाज की कनपटी में आंख के एकदम नजदीक जा घुसा। शहनाज कुछ समझ पाती, तब तक हमलावर फरार हो गया।

चाकू निकालकर प्राथमिक उपचार देकर डॉक्टरों ने महिला को घर भेज दिया है।
चाकू निकालकर प्राथमिक उपचार देकर डॉक्टरों ने महिला को घर भेज दिया है।

कनपटी में चाकू फंसा देख हर कोई सहमा
महिला बदहवास और लहूलुहान अवस्था में बाहर की तरफ दौड़ी। सिर में चाकू फंसा देख लोग सन्न रह गए। एक बाइक पर बैठकर गंभीर हालत में शहनाज निजी अस्पताल में पहुंची। डॉक्टर और कर्मचारी भी उसकी हालत को देखकर दंग रह गए। क्योंकि कनपटी में चाकू फंसा हुआ था और लगातार खून बह रहा था। डॉक्टरों के प्रयास से चाकू निकाला गया। प्राथमिक इलाज देकर डॉक्टरों ने घायल महिला को शुक्रवार को घर भेज दिया। शहनाज ने कहा कि उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है। हमलावर कौन था, हमला क्यों हुआ, यह स्पष्ट नहीं हो पाया।

महाराजपुर में हुई वारदात से महिला और उसका परिवार बुरी तरह भयभीत है।
महाराजपुर में हुई वारदात से महिला और उसका परिवार बुरी तरह भयभीत है।

मदद करने वालों को पुलिस ने बैठाया
शहनाज के पति असलम अंसारी ने बताया कि हॉस्पिटल में इलाज के लिए उनसे 25 हजार रुपये मांगे गए। उन पर इतने रुपयों का इंतजाम नहीं था। असलम ने अपने दो परिचितों को फोन किया। इसमें एक व्यक्ति शालीमार बाग का रहने वाला है। वह पांच हजार रुपये लेकर हॉस्पिटल पहुंचा। जबकि दूसरा व्यक्ति भी पांच हजार रुपये लेकर आया। असलम का कहना है कि पुलिस ने मदद करने वाले दोनों व्यक्तियों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस इस केस में बेकसूरों को फंसाना चाह रही है।

खबरें और भी हैं...