गाजियाबाद में सहकर्मी की चाकू मारकर हत्या:हत्यारे ने गर्दन को धड़ से अलग करके फेंका, मोबाइल कॉल से पकड़ा गया

गाजियाबादएक महीने पहले
प्रमोद लोधी (37) मूल रूप से कासगंज के सूरजपुर खसकरी गांव का रहने वाला था।

गाजियाबाद में एक युवक ने रविवार को अपने सहकर्मी की हत्या कर दी। चाकू से गला काटने के बाद उसका धड़ और सिर दूसरी जगह पर फेंक दिया। सोमवार को घटना की जानकारी होने पर रात में 9 बजे के करीब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर गर्दन और धड़ को बरामद कर लिया है।

फोन नहीं मिला तो पत्नी ने आकर पुलिस को दी खबर
कविनगर कोतवाली के इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्र ने बताया कि प्रमोद लोधी(37) मूल रूप से कासगंज के सूरजपुर खसकरी गांव का रहने वाला था। अभी गाजियाबाद में रहता था। वह कविनगर इंडस्ट्रियल एरिया स्थित गाजियाबाद प्रेजिशन प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड में बतौर मशीन ऑपरेटर काम करता था। प्रमोद की पत्नी मीरा कासगंज में रहती थी। रविवार से वह पति को कई बार फोन कर चुकी थी, लेकिन कॉल नहीं मिल पा रही थी। परेशान होकर पत्नी मीरा सोमवार को गाजियाबाद पहुंची। उसने कविनगर पुलिस स्टेशन में पहुंचकर पति के लापता होने की खबर दी।

पुलिस ने धड़ के साथ गर्दन को भी बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस ने धड़ के साथ गर्दन को भी बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी की निशानदेही पर धड़-गर्दन बरामद

पुलिस ने छानबीन शुरू की तो प्रमोद लोधी की लाश एक घर के अंदर पड़ी मिली। धड़ से गर्दन अलग थी। पुलिस को मौके पर गर्दन नहीं मिली। पुलिस ने जब प्रमोद की मोबाइल डिटेल खंगाली तो उसे संदीप के बारे में पता चला। संदीप से ही अंतिम बार बात हुई थी।

आरोपी के मोबाइल की सीडीआर निकलवाकर सर्विलांस के जरिए संदीप मिश्रा को पकड़ लिया। संदीप आजमगढ़ जिले का रहने वाला है। वह इसी फैक्ट्री में प्रमोद के साथ नौकरी करता है। पूछताछ में संदीप ने चाकू से गर्दन काटकर हत्या करने की बात कुबूली। पुलिस ने संदीप की निशानदेही पर गर्दन बरामद कर ली है। हत्या में इस्तेमाल चाकू मिल गया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि हत्या की वजह के संबंध में आरोपी से पूछताछ चल रही है।

कविनगर क्षेत्र में हत्या की सूचना मिलने के बाद मौके पर भीड़ जमा हो गई।
कविनगर क्षेत्र में हत्या की सूचना मिलने के बाद मौके पर भीड़ जमा हो गई।