पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेत के ढेर में दबी मिली क्षत-विक्षत लाश:गाजियाबाद के एक मकान से आ रही थी बदबू, लोग अंदर पहुंचे तो शव नोंच रहे थे कुत्ते; पड़ोसी बोले- दिल दहला देने वाला था दृश्य

गाजियाबाद18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इसी मकान के अंदर युवक की लाश रेत के ढेर में दबी हुई मिली है। - Dainik Bhaskar
इसी मकान के अंदर युवक की लाश रेत के ढेर में दबी हुई मिली है।

गाजियाबाद जिले में एक व्यक्ति का क्षत-विक्षत शव रेत के ढेर में दबा मिला। मकान से बदबू आने पर स्थानीय निवासियों के पुलिस को सूचना दी। गेट खुला देख पड़ोसी अंदर पहुंचे तो कुत्तों को शव को नोंचता देख दंग रह गए। पुलिस के मुताबिक, मकान के किराएदार पर हत्या कर शव दबाने की आशंका है। फिलहाल मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी है। फरार किराएदार की तलाश की जा रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि किराएदार आए दिन दोस्तों संग शराब पार्टी करता था।

हत्या कर रेत के ढेर में दबाया गया शव
मामला निवाड़ी थानाक्षेत्र स्थित कस्बे की आवास-विकास कॉलोनी का है। यहां के निवासी जयपाल जाटव दिल्ली में रहते हैं। बताया जा रहा है कि जयपाल ने अपने रिश्तेदार महेंद्र के जरिए खाली पड़े मकान को पेंटर लीलू गुर्जर को किराए पर दिया था। सोमवार सुबह स्थानीय निवासियों को मकान से बदबू आने लगी। मकान का मेन गेट भी खुला हुआ था। अंदर जाकर देखा तो रेत के ढेर में एक क्षत-विक्षत शव दबा मिला। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव को तुरंत पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि लीलू अक्सर यहां शाम के वक्त दोस्तों संग शराब पार्टी करता था। इस दौरान शोर-शराबा होने पर मोहल्ले के लोग उन्हें शांत होने के लिए टोकते भी थे। आशंका है कि शराब पार्टी में दोस्तों के बीच कोई विवाद हुआ होगा। उसी में शख्स की हत्या की गई होगी। इसके बाद शव को कोने में पड़े रेत के ढेर में दबा दिया गया होगा।

कुत्तों ने शव को नोंचकर क्षत-विक्षत किया
थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि कुत्तों ने चेहरा समेत शरीर के कई अंग नोंचकर क्षत-विक्षत कर दिए हैं। मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई है। फिलहाल प्राइम सस्पेक्ट लीलू गुर्जर है। उसकी तलाश जारी है। स्थानीय लोगों के अनुसार, लीलू इस मकान में 4 दिन से नहीं था। ऐसे में आशंका है कि हत्या की वारदात 4 दिन पहले हुई होगी। अब बदबू आने पर लोगों को इसकी जानकारी हुई।

खबरें और भी हैं...