डॉक्टर को 'सर तन से जुदा' धमकी झूठी निकली:मरीज के वर्चुअल नंबर को थ्रेट कॉल और सूजे पैर को बताया कटा हुआ पैर

गाजियाबाद19 दिन पहले
गाजियाबाद में डॉक्टर अरविंद ने 9 सितंबर को FIR कराई थी कि उन्हें विदेशी नंबर से मारने की धमकी मिली है।

गाजियाबाद में डॉक्टर अरविंद वत्स 'अकेला' को 'सर तन से जुदा' करने जैसी धमकी देने का मामला झूठा निकला। डॉक्टर ने सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए एक मरीज के वर्चुअल नंबर को यूएस का बता दिया और जिसे कटा हुआ पैर बताया जा रहा था, वो मरीज का सूजा हुआ पैर निकला। पुलिस अब डॉक्टर के विरुद्ध भ्रामक सूचना देने पर कार्रवाई करने जा रही है।

डॉक्टर ने 11 सितंबर को कराई थी FIR
सिहानी गेट थाना क्षेत्र में अंबेडकर कॉलोनी निवासी डॉक्टर अरविंद वत्स अकेला लोहियानगर के पास सीताराम हृदयनाथ चिकित्सालय का संचालन करते हैं। 11 सितंबर को उन्होंने एक FIR दर्ज कराई। FIR के अनुसार, उन्हें 2 सितंबर को वॉट्सएप पर यूएस के नंबर से थ्रेट कॉल आई। कहा- 'तू डॉक्टर अकेले बोल रहा है। तुझे तेरा मोदी, योगी, सिंघा बचा नहीं पाएगा। जैसे कन्हैया कुमार व उमेश को भेजा है, तुझे भी वहीं भेज दूंगा। गुस्ताखे रसूल की एक ही सजा, सर तन से जुदा, सर तन से जुदा।' डॉक्टर अरविंद के अनुसार, थ्रेट देने वाले ने उन्हें वॉट्सएप पर तीन फोटो भेजे थे, जिसमें घुटने के नीचे का पैर कटा हुआ था।

इंटरनेट से जेनरेट किए गए इस वर्चुअल नंबर के बारे में डॉक्टर ने कहा था कि उन्हें लगातार थ्रेट कॉल आ रही है।
इंटरनेट से जेनरेट किए गए इस वर्चुअल नंबर के बारे में डॉक्टर ने कहा था कि उन्हें लगातार थ्रेट कॉल आ रही है।

पुलिस की तीन टीमों को मिली सफलता
SP सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया, हमने इस केस को गंभीरता से लेते हुए जांच-पड़ताल शुरू की। इस केस के खुलासे में साइबर सेल, सिहानी गेट पुलिस और एसपी सिटी की एसओजी टीम को लगाया गया। आखिरकार रविवार को बड़ी सफलता मिली।

कम्प्यूटर और जावा का अच्छा जानकार है मरीज
SP सिटी ने बताया, डॉक्टर को जिस वर्चुअल नंबर से कॉल आई थी, वो नंबर अनीश कुमार महतो ने इंटरनेट से जेनरेट किया था। अनीश मूल रूप से बिहार में छपरा जिले के केवानी गांव का रहने वाला है और फिलहाल दिल्ली के मालवीय नगर में रहता है।

अनीश ने कम्प्यूटर में C प्लस कोर्स किया हुआ है और वो कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर जावा का अच्छा जानकार है। 27 अगस्त को अनीश और डॉक्टर अरविंद की मुलाकात करन चौहान के प्रतिष्ठान पर हुई थी। करन चौहान दिल्ली के गांव खिड़की में अचार का काम करते हैं।

अनीश तीन-चार साल से अस्थमा से पीड़ित है। उसने सारी दिक्कत डॉक्टर को बताई। यहां एक-दूसरे के मोबाइल नंबर शेयर हुए और फिर आगे बातचीत होती रही।

एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके डॉक्टर द्वारा फैलाए गए इस झूठ की जानकारी दी।
एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके डॉक्टर द्वारा फैलाए गए इस झूठ की जानकारी दी।

SP बोले- डॉक्टर ने सस्ती लोकप्रियता के लिए फैलाया झूठ
SP सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया, दो अक्तूबर को अनीश ने इंटरनेट से जेनरेट किए वर्चुअल नंबर (यूएस कोड नंबर) से डॉक्टर अरविंद को वॉट्सएप पर अपने सूजे हुए पैर के तीन फोटो भेजे और वॉट्सएप कॉल पर ही उन्हें सारी समस्या बताई थी।

SP सिटी का दावा है कि डॉक्टर ने सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए सूजे हुए फोटो को कटा हुआ बता दिया और मरीज के नंबर को थ्रेट कॉल बताते हुए खबर फैला दी। इसलिए अब डॉक्टर अरविंद के विरुद्ध झूठी सूचना देने के आरोप में कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और भी हैं...