• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ghaziabad
  • United Kisan Morcha Took An Important Decision In Delhi, Will Burn Effigies Of Modi And Shah On Dussehra, On October 18, Farmers Will Stop Rail Across The Country

लखीमपुर हिंसा...मृतक किसानों के अस्थि कलश देशभर में जाएंगे:संयुक्त किसान मोर्चा का बड़ा फैसला, दशहरे पर मोदी-शाह के पुतले फूंकेंगे; 18 अक्टूबर को पूरे देश में किसान रेल रोकेंगे

गाजियाबाद/दिल्ली10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने की प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस। - Dainik Bhaskar
दिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने की प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस।

लखीमपुर खीरी हिंसा केस में संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को दिल्ली प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कई महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की घोषणा की। इस दौरान भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत समेत हन्नान मौला, जोगिंदर सिंह उग्रहान, दर्शनपाल, योगेंद्र यादव, हरपाल बिल्लारी, सुरेश कौसथ मौजूद रहे।

वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव के अनुसार, 12 अक्टूबर को 4 शहीद किसानों और एक पत्रकार की अंतिम अरदास होगी। यह कार्यक्रम खीरी जिले के तिकोनिया में उसी स्थान पर होगा, जहां यह हादसा हुआ था। संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने देशभर के किसानों से अपील करते हुए कहा है कि वे इस दिन तिकोनिया पहुंचे। जो वहां न पहुंच पाए, वो नजदीकी मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारे में जाकर शहीद किसानों के लिए प्रार्थना करें। घरों के बाहर 12 की शाम को 5 मोमबत्ती जलाएं। या फिर स्थानीय स्तर पर कैंडल मार्च निकालें।

प्रत्येक जिले में कलश यात्रा
योगेंद्र यादव ने बताया, 12 अक्टूबर को अंतिम अरदास के बाद तिकोनिया से अस्थि कलश यात्रा प्रारंभ होगी। उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले के लिए एक-एक कलश रवाना होगा।

जानकारी देते योगेंद्र यादव
जानकारी देते योगेंद्र यादव

बाकी राज्यों के लिए एक-एक कलश जाएगा। अस्थि विसर्जन कहाँ होगा, यह एसकेएम के पदाधिकारी तय करेंगे। पूरे देश भर में अस्थि कलश यात्रा का समापन 24 अक्टूबर को होगा।

दशहरे पर मोदी व शाह के पुतले जलाये जायेंगे

प्रेस कॉन्फ्रेंस में वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव ने बताया कि एसकेएम ने 15 अक्टूबर को दशहरे पर 3 विशेष पुतले फूंकने का निर्णय लिया है। ये पुतले नरेंद्र मोदी, अमित शाह और एक अन्य नेता (लोकल स्तर पर कोई भी) होंगे। यह पुतले झूठ के प्रतीक के रूप में जलाए जाएंगे।

18 अक्टूबर को रेल रोकने की तैयारी

18 अक्टूबर को देश भर में किसान सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक रेल रोकेंगे। 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत बुलाई गई है। एसकेएम का दावा है कि यह महापंचायत मुजफ्फरनगर जैसी होगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि मंत्री अजय मिश्र टेनी और उनके बेटे आशीष मिश्र की गिरफ्तारी नहीं होने तक यह आंदोलन चलेगा।

  • अगर 11 अक्टूबर तक संयुक्त किसान मोर्चा की मांगों को स्वीकार नहीं किया गया तो संयुक्त किसान मोर्चा देशव्यापी विरोध कार्यक्रम की शुरुआत करेगा। इन कार्यक्रमों की रुपरेखा इस प्रकार है:
  • अंतिम अरदास के बाद लखीमपुर खीरी से शहीद किसानों के अस्थि कलश लेकर शहीद किसान यात्रा निकाली जाएगी। यह यात्रा उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले और देश के प्रत्येक राज्य के लिए अलग-अलग अस्थि कलश लेकर शुरू की जाएगी। इस यात्रा का समापन हर जिले और राज्य में किसी पवित्र या ऐतिहासिक स्थान पर किया जाएगा।
  • दशहरा के अवसर पर, 15 अक्टूबर को, किसान विरोधी भाजपा सरकार के प्रतिरूप नरेंद्र मोदी, अमित शाह और स्थानीय नेताओं के पुतले जला कर उनके झूठ का दहन किया जाएगा।
  • 18 अक्टूबर को देश भर में सुबह 10 बजे से 4 बजे तक रेल रोको आंदोलन आयोजित किया जाएगा।
  • 26 अक्टूबर को संयुक्त किसान मोर्चा लखनऊ में लखीमपुर कांड के विरोध में एक किसान महापंचायत का आयोजन करेगा।
खबरें और भी हैं...