दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर भरा पानी:वन-वे हुए हाईवे पर लगा जाम, बच्चे भी नहाते नजर आए; 2021 में 5000 करोड़ रुपए की लागत से बना था

गाजियाबाद/ मेरठ2 महीने पहले
एक्सप्रेस-वे पर मेरठ से इंदिरापुरम गाजियाबाद के बीच करीब 8 स्थान ऐसे हैं, जहां बारिश का पानी हाईवे पर भर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे मानसून की बारिश भी नहीं झेल पा रहा। गाजियाबाद में शनिवार को हुई बारिश से इंदिरापुरम के सामने एक्सप्रेस-वे पर पानी भर गया। इसके चलते दिल्ली से गाजियाबाद की तरफ आने वाला ट्रैफिक थम गया। हाईवे की एक लेन से होकर सारे वाहन गुजरे। वाहनों की लंबी कतार दिखाई दी। वहीं, बच्चे हाईवे पर भरे पानी में नहाते हुए भी नजर आए।

5 हजार करोड़ की लागत से बना है एक्सप्रेस-वे
पांच हजार करोड़ रुपए की लागत से बना दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे मार्च 2021 में खोला गया था। लेकिन पूरे एक्सप्रेस-वे पर बारिश में जहां-तहां पानी भर जाता है। मेरठ से इंदिरापुरम गाजियाबाद के बीच करीब 8 स्थान ऐसे हैं, जहां बारिश का पानी हाईवे पर भर रहा है। सबसे ज्यादा जलभराव की दिक्कत उन्हीं स्थानों पर है, जहां सड़क का झुकाव एक तरफ है। वहां पर पानी की निकासी के पर्याप्त इंतजाम नहीं हैं।

हाईवे पर जगह-जगह पानी भरा हुआ है।
हाईवे पर जगह-जगह पानी भरा हुआ है।

एक्सप्रेस वे पर कई जगह मिट्टी धंसी
मेरठ से निकलते ही परतापुर के नजदीक एक्सप्रेस-वे पर एक दो जगह मिट्टी धंस गई है। एक हफ्ते पहले भी एक्सप्रेस-वे पर किनारे की तरफ कई जगह मिट्टी धंसने की तस्वीरें सामने आई थीं। इससे निर्माण की गुणवत्ता पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

जरा सी बारिश से ही जलमग्न हुई सड़कें
जरा सी बारिश से ही जलमग्न हुई सड़कें

कस्बा लोनी में भी जलभराव के हालात
गाजियाबाद में बारिश के चलते दिल्ली-सहारनपुर हाईवे स्थित कस्बा लोनी में सबसे ज्यादा बुरे हालात हो गए हैं। नाले ओवर फ्लो होने से बारिश का सारा पानी सड़कों पर इकट्ठा हो गया है, जो फिर से आसपास की कॉलोनियों में घुसना शुरू हो गया है। इंदिरा पुरी कॉलोनी में सबसे ज्यादा दिक्कत है जहां पर करीब डेढ़ फीट पानी भर चुका है।

खबरें और भी हैं...