गाजियाबाद में गर्भवती महिला की हत्या, बाथरूम में मिला शव:पानी मांगने के बहाने घुसे थे हत्यारे, सास को बालकनी में बंद करके बहू का तार से गला घोंटा

गाजियाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गाजियाबाद के साहिबाबाद में एक फ्लैट में 20 साल की महिला की हत्या कर दी गई। उसका शव बाथरूम में मिला है। गले पर तार के निशान है। आशंका है कि तार से गला घोंटकर हत्या की गई है। वारदात के वक्त फ्लैट में ही मौजूद महिला की सास को हत्यारों ने धक्का देकर बालकनी में बंद कर दिया। देर रात जब महिला का पति ड्यूटी करके लौटा तो वारदात की जानकारी हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है।

संतोषी गर्भवती थी। उसका शव बाथरूम में मिला है।
संतोषी गर्भवती थी। उसका शव बाथरूम में मिला है।

पानी मांगने के बहाने घर में घुसे थे
साहिबाबाद के DLF ब्लॉक के फ्लैट में संतोष कुमार अपनी पत्नी संतोषी और मां पदमावती के साथ रहते थे। वारदात के वक्त घर में संतोषी और उनकी सास पदमावती थीं। संतोष नौकरी के सिलसिले मे दिल्ली गए थे। सास पदमावती ने बताया कि गुरुवार शाम को कुछ लोग पानी लेने के बहाने घर में घुस आए। कमरे में आते ही उन्होंने बुजुर्ग महिला को धक्का देकर बालकनी में बंद कर दिया और फिर वारदात करके भाग निकले।

हत्यारों ने मृतक महिला संतोषी की सास को बालकनी में बंद कर दिया था।
हत्यारों ने मृतक महिला संतोषी की सास को बालकनी में बंद कर दिया था।

रात 10 बजे पति पहुंचा तो वारदात का पता चला
रात करीब 10 बजे जॉब से लौटे संतोष घर पहुंचे तो देखा कि फ्लैट का दरवाजा खुला था। बाथरूम के अंदर उनकी पत्नी संतोषी की लाश पड़ी थी। अलमारी और लॉकर के ताले टूटे थे। लॉकर से कुछ सामान भी गायब था। घर का बाकी सामान भी अस्त-व्यस्त मिला।

मां की आवाज सुनकर संतोष ने बालकनी का लॉक खोलकर उन्हें बाहर निकाला। फिर पुलिस को सूचना दी। संतोष के ऊपर वाला फ्लैट विपिन नाम के शख्स का है, जो निर्माणाधीन है। संतोष ने पुलिस को बताया कि वहां काम करने वाले मजदूर अक्सर पानी आदि सामान लेने के लिए उनके फ्लैट आते थे।

SSP मुनिराज जी ने बाथरूम का मुआयना किया। जहां संतोषी का शव मिला था।
SSP मुनिराज जी ने बाथरूम का मुआयना किया। जहां संतोषी का शव मिला था।

पति बोला- लाइट बंद और पंखे चालू थे, मुझे लगा इनवर्टर खराब हो गया होगा

मृतका संतोषी के पति संतोष कुमार ने पूरा घटनाक्रम बयां किया। उन्होंने बताया, गुरुवार रात मैंने फ्लैट में एंट्री किया। उस समय दो पंखे चालू थे, लेकिन लाइट ऑफ थी। मैं सोनू (संतोष देवी) के लिए गोलगप्पे लाया था। वो प्रेगनेंट है। मैंने सोचा कि उसका गोलगप्पे खाने का मन कर रहा होगा।

दरवाजे के एंट्रेंस पर मैंने गोलगप्पे रखे और सोनू-सोनू की आवाज लगाते हुए बालकनी की तरफ गया। मैंने आवाज लगाकर पूछा कि सोनू इनवर्टर काम नहीं कर रहा क्या? लेकिन कोई आवाज नहीं आई। बालकनी का दरवाजा मैंने खोला तो मम्मी (पदमावती) बैठी हुई थीं। मैंने पूछा- तुम क्या कर रही हो यहां बैठकर? मम्मी ने बताया, दो आदमी आए। मेरे मुंह पर हाथ मारा और मुझे यहां बैठा दिया। इसके बाद मुझे कमरे से बहुत देर तक आवाज आती रहीं।

फॉरेंसिक टीम ने अलमारी और बाथरूम के दरवाजे से फिंगर प्रिंट लिए हैं।
फॉरेंसिक टीम ने अलमारी और बाथरूम के दरवाजे से फिंगर प्रिंट लिए हैं।

गले में लिपटा था टीवी का तार
संतोष कुमार ने बताया कि हमारे फ्लैट के ऊपर विपिन कुमार के फ्लैट में काम चल रहा है। इसमें काम करने वाले मजदूर रोजाना पानी की कैन भरने के लिए हमारे फ्लैट में आते थे। मुझे शक है कि उन्होंने ही मेरी पत्नी को मारा है। उधर, मृतका के गले में टेलीविजन का वायर लिपटा हुआ है। आशंका है कि इसी से गला घोंटकर हत्या की गई है। अलमारी से कितना सामान गायब हुआ है, यह अभी क्लियर नहीं हो सका है।

SSP मौके पर पहुंचे, खुलासे के लिए 3 टीमें गठित
देर रात SSP मुनिराज जी ने घटनास्थल का मुआयना किया। फिंगर एक्सपर्ट टीम ने भी मौके पर पहुंचकर सबूत जुटाए। SSP का कहना है कि प्रथम दृष्टया ऊपर वाले फ्लैट में काम कर रहे मजदूरों पर ही हत्या का शक है। आशंका है कि मजदूर लूटपाट के इरादे से घुसे थे और वारदात करके भाग निकले। वारदात के खुलासे के लिए तीन टीमों का गठन कर दिया गया है। जल्द पूरी घटना का खुलासा होगा।