पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चुनावी मोड में सरकार, वेस्ट यूपी में CM के दौरे:18 सितंबर को हापुड़ और 26 को गाजियाबाद में योगी आदित्यनाथ का दौरा प्रस्तावित, करोड़ों रुपये की परियोजनाओं की देंगे सौगात

गाजियाबाद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हापुड़ डीएम और एसपी ने सीएम के दौरे के मद्देनजर अफसरों की बैठक ली और तैयारियों को पूरा करने का निर्देश दिया। - Dainik Bhaskar
हापुड़ डीएम और एसपी ने सीएम के दौरे के मद्देनजर अफसरों की बैठक ली और तैयारियों को पूरा करने का निर्देश दिया।

यूपी में विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख सरकार भी चुनावी मोड में आ गई है। अलीगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम होने के बाद वेस्ट यूपी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कई दौरे प्रस्तावित हैं। वह इन जिलों में जाकर करोड़ों रुपये की परियोजनाओं की सौगात जनता को देंगे। हापुड़ जिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 22 सितंबर को आएंगे। वह धौलाना क्षेत्र में सभा को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम के लिए प्रशासन ने खेड़ा गांव के इंटर कॉलेज मैदान को चिह्नित किया है। बुधवार को डीएम अनुज सिंह और एसपी दीपक भूकर ने अफसरों संग बैठक की। इसके बाद प्रस्तावित कार्यक्रम स्थल का दौरा किया। सूत्रों ने बताया कि ब्रजघाट, पूठ गंगापुल समेत कई परियोजनाओं की सौगात मुख्यमंत्री के द्वारा जनता को दी जाएगी।

सीएम के सभास्थल के लिए खेड़ा में इंटर कॉलेज का मैदान प्रस्तावित किया है।
सीएम के सभास्थल के लिए खेड़ा में इंटर कॉलेज का मैदान प्रस्तावित किया है।

गाजियाबाद प्रशासन ने सीएम को दिया न्यौता

इससे पहले मुख्यमंत्री का 18 सितंबर को जिला शामली में दौरा प्रस्तावित है। चर्चाएं हैं कि वह पीएसी बटालियन का शुभारंभ करने के लिए आ रहे हैं। इसी तरह योगी आदित्यनाथ का 21 सितंबर को बिजनौर में दौरा बताया गया है। 26 सितंबर को वह गाजियाबाद में आ सकते हैं। करीब 250 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शुभारंभ करने के लिए गाजियाबाद जिला प्रशासन की ओर से पहले ही मुख्यमंत्री को न्यौता दिया गया था।
जाट संग किसानों को रिझाने की कोशिश
14 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ में जाट राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया है। इस कार्यक्रम के बहाने वेस्ट यूपी के जाट को साधने की कोशिश हुई है। अब 18 सितंबर से भाजपा पूरे यूपी में किसानों के सम्मेलन करने जा रही है। मुजफ्फरनगर में पांच सितंबर को हुई किसान महापंचायत से सरकार टेंशन में है। चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में किसानों और खासकर जाट समाज को रिझाने की भरपूर कोशिशें हो रही हैं।

खबरें और भी हैं...