सऊदी अरब में गाजीपुर के युवक की मौत:5 दिन बाद भी शव नहीं पहुंचा भारत, 3 साल से ड्राइवर की नौकरी करता था मंजेश

कासिमाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गाजीपुर के कासिमाबाद क्षेत्र के मखनुपुर गांव का रहने वाला एक युवक सऊदी अरब में नौकरी करने गया था। वहां तबीयत खराब होने पर उसकी मौत हो गई। 5 दिन बीत जाने के बावजूद उसका शव भारत नहीं पहुंचा। परिवार ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

मखनूपुर के रहने वाले शंभू यादव का बेटा मंजेश सिंह यादव पिछले 3 साल से सऊदी अरब में ड्राइवर की नौकरी करता था। चार महीने पहले शुगर लेवल बढ़ने पर उसकी तबीयत खराब हो गई। उसे सऊदी अरब के किंग फहद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के बावजूद उसकी हालत में सुधार नहीं हो पाया। तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर 9 जून को उसकी मौत हो गई।

सऊदी अरब में तबीयत खराब होने पर मंजेश की मौत हो गई, परिवार के लोग अंतिम झलक के लिए तरस रहे हैं।
सऊदी अरब में तबीयत खराब होने पर मंजेश की मौत हो गई, परिवार के लोग अंतिम झलक के लिए तरस रहे हैं।

साथ काम करने वाले युवक ने परिवार को दी जानकारी

युवक की मौत के बाद साथ काम करने वाले इलाके के ही अलावलपुर निवासी सुरेंद्र यादव ने परिवार को घटना की जानकारी दी। परिवार के मुताबिक मंजेश के शव को भारत लाने के लिए भारत दूतावास सहित सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त सहित जिलाधिकारी से भी गुहार लगाई जा चुकी है। परिवार ने बताया कि अब तक उसकी समस्या के समाधान के लिए पहल नहीं हुई है। हालांकि भाजपा सांसद ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही युवक का शव परिजनों को मिल जाएगा।

सऊदी अरब में मंजेश की मौत के बाद गांव में परिवार में उदासी छायी हुई है, सभी मदद की गुहार लगा रहे हैं।
सऊदी अरब में मंजेश की मौत के बाद गांव में परिवार में उदासी छायी हुई है, सभी मदद की गुहार लगा रहे हैं।

पत्नी ने लगाई गुहार, कहा-अंतिम बार पति को देखना चाहती हूं

मृतक की मां चांद मुन्नी देवी,पत्नी पुष्पा देवी समेत परिवार के अन्य लोगों को रो-रोकर बुरा हाल है। भाई बेचू यादव, राजेश यादव भी परेशान हैं। तीन भाइयों में मंजेश तीसरे नंबर का था। मंजेश की 5 साल की बेटी अनुष्का है। गांव के प्रधान सहित इलाके के काफी लोग गांव पहुंच परिवार का हौसला बढ़ा रहे हैं। पत्नी ने पति का शव भारत भेजने के साथ वेतन भुगतान व आर्थिक सहयोग देने की गुहार लगाई है।

खबरें और भी हैं...