मुहम्मदाबाद में नई शिक्षा नीति के लिए विशेष पहल:2020 से अनिवार्य रूप से लागू है नीति, नए कोर्स जुड़ने से आ रहा बदलाव

मुहम्मदाबाद4 दिन पहले

गाजीपुर। नई शिक्षा नीति 2020 को अनिवार्य रूप से सभी विश्वविद्यालयों और उनसे संबद्ध कॉलेजों में लागू कर दिया गया है। बहुत से महाविद्यालयों में इस बात को लेकर चर्चा चल रही है कि पुरानी पद्धति पर पढ़ाई करा रहीं शिक्षण संस्थाएं क्या वाकई नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षा देने को तैयार हैं? ऐसे में भास्कर न्यूज ने मोहम्मदाबाद के शहीद स्मारक महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजेश से संपर्क किया, डॉ. राजेश ने बताया कि किसी भी शिक्षा पद्धति के अनुसार शिक्षा देने में उनका कालेज समक्ष है।

नई शिक्षा नीति के तहत उनके महाविद्यालय में पठन-पाठन का कार्य किया जा रहा है। इस नीति का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि नई शिक्षा पद्धति के तहत इंटर डिसिप्लिनरी पढ़ाई संभव हो पायेगी। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि नई शिक्षा नीति का लागू किया जाना हाल ही में लिया गया निर्णय है। इसके बेहतर ढंग से क्रियान्वयन करने में थोड़ा वक्त लग सकता है। डॉ. राजेश ने यह भी बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत बच्चों को पढ़ाने के लिए पर्याप्त संसाधन उनके कालेज उपलब्ध हैं।

डॉ. राजेश ने यह भी कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत कुछ वोकेशनल और टूर प्रोग्राम पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाये गये हैं। इन सबको लेकर जल्द ही कमियों को दूर कर लिया जायेगा। हालांकि प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई हैं और द्वितीय सेमेस्टर के ऑनलाइन फार्म भरे जाने की अधिसूचना विश्वविद्यालय की ओर से जारी कर दी गई है। नई शिक्षा नीति के तहत दूसरे सेमेस्टर की कक्षाएं 30 मई तक संचालित करने का आदेश विश्वविद्यालय ने पहले ही संबद्ध कालेजों को दे रखा है।

खबरें और भी हैं...