यूपी में फाइलेरिया उन्मूलन पर जोरदार प्रहार:मुहम्मदाबाद में अब तक 42 हजार से ज्यादा ने पायी दवा, घर घर जाकर होगा वितरण

मुहम्मदाबाद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गर्मी का मौसम और तमाम बीमारियों का आगमन ठीक वैसा ही होता है जैसे घर में बिन बुलाए मेहमान का आना। इसी के तहत यूपी सरकार ने अब फायलेरिया मुक्त भारत बनाने की दिशा में कदम से कदम मिलाने का काम किया है। इसी बीमारी के उन्मूलन के लिए सामूहिक दवा सेवन अभियान (एमडीए) चलाया जा रहा है। यह कार्यक्रम फिलहाल उत्तर प्रदेश के 19 जनपदों में चलाया जा रहा है। अभियान 27 मई तक चलाया जायेगा, जिसकी औपचारिक शुरुआत 12 मई से हो गयी है।

मुहम्मदाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के तहत शनिवार की शाम तक उपलब्ध आंकड़े बताते हैं कि अब तक कुल 42 हजार 143 लोगों को फायलेरियारोधी दवा पिलायी गयी है। इन आंकड़ों मे दो साल से कम के बच्चे और गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों के आंकड़े शामिल नहीं है। मुहम्मदाबाद क्षेत्र में कुल 275 टीमें एमडीए के तहत लगायी गयी हैं। टीमों के बेहतर समन्वय के लिए 45 सुपरवाइजरों की ड्यूटी लगायी गयी है। इस तरीके से 550 ड्रग एडमिस्ट्रेटरों को सामूहिक दवा सेवन अभियान से अच्छादित किया गया है।

मुहम्मदाबाद क्षेत्र में इस अभियान के तहत 303611 की जनसंख्या को कवर करना है। इस अभियान की शुरुआत से शनिवार की शाम तक 58 हजार 72 लोगों को कवर किया जा चुका है। उत्तर प्रदेश के 50 जनपदों में फायलेरिया ऐनडेनिक के रूप में है। भारत में 8.4 लाख व्यक्ति हाथी पांव और 3.8 लाख व्यक्ति हाइड्रोसील बढ़ने की बीमारी से ग्रसित हैं। यह दोनों बीमारियां परजीवी जनित हैं। यह रोग मच्छरों के काटने से फैलता है।

खबरें और भी हैं...