मकान और ट्रेन में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश:3 शातिर बदमाश चढ़ें पुलिस के हत्थे, 5 लाख की ज्वेलरी और नकदी बरामद

गाजीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गाजीपुर में बंद पड़े मकानों और ट्रेन में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। इन वारदातों को अंजाम देने वाले तीन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार बदमाशों के पास से लगभग 5 लाख कीमत के सोने चांदी के आभूषण, मोटरसाइकिल, दो अवैध तमंचे, चोरी करने के उपकरण और एक लाख 11 हजार रुपए नगद बरामद हुआ है।

पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने बताया कि शहर कोतवाली पुलिस को क्षेत्र के विशेश्वरगंज ओवरब्रिज के नीचे रेलवे लाइन के पास कुछ लोगों द्वारा चोरी की योजना बनाने की सूचना मिली थी। यह भी जानकारी मिली कि उनके पास असलहे भी हैं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को देख कर वहां मौजूद आधा दर्जन बदमाश भागने लगे। पुलिस ने दौड़ाकर उनमें से तीन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

गाजीपुर में गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से सोने चांदी के आभूषण और अन्य सामग्री बरामद।
गाजीपुर में गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से सोने चांदी के आभूषण और अन्य सामग्री बरामद।

सर्राफा व्यवसायी भी गिरफ्तार
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए बदमाश एक संगठित गिरोह के हैं। जो शहर में बंद मकानों और ट्रेनों में चोरी करते रहे हैं। पुलिस ने छोटू बिंद और सागर बिंद के अलावा सर्राफा व्यवसायी कृष्णानंद उर्फ कृष्णा को गिरफ्तार किया है। यह गैंग वारदात को अंजाम देने के बाद चोरी का माल इसी सर्राफा व्यवसायी को देता था।

गाजीपुर में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश ।
गाजीपुर में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश ।

बदमाशों पर कई मुकदमे हैं दर्ज
गिरफ्तार बदमाश छोटू बिंद के ऊपर 23 जबकि सागर बिंद के ऊपर 28 आपराधिक मुकदमे पहले से दर्ज है। वही सर्राफा व्यवसाई कृष्णानंद वर्मा के ऊपर भी 14 मुकदमे पहले से दर्ज किए जा चुके हैं। पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को उत्साहवर्धन हेतु नगद पुरस्कार की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं...