गाजीपुर के नवनिर्मित पंचायत भवन में लटक रहा ताला:कार्यालय में अधिकारी रहते हैं नदारद; ग्रामीणों में बढ़ रहा आक्रोश, काम हो रहे प्रभावित

गाजीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गाजीपुर में मूलभूत सुविधाओं के लाभ से वंचित होने पर ग्रामीणों में आक्रोश दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। शासन-प्रशासन के लाख प्रयास के बाद भी शासन के मंशानुसार कार्य धरातल पर नहीं दिख रहा। तमाम पंचायत भवनों पर लगातार महीनों से ताले लटक रहे हैं।

मरदह ब्लॉक की कई ग्राम पंचायतों में लाखों रूपये की लागत से बनने वाले पंचायत भवन-सचिवालय का निर्माण कार्य अभी भी अधर में लटका हुआ है। साथ ही जहां पूर्ण हो भी गया है वहां पंचायत सहायक लगातार अनुपस्थित पाएं जा रहे हैं। इससे पंचायतों के तमाम काम प्रभावित हो रहे हैं।

पंचायत भवन में लटक रहे ताला।
पंचायत भवन में लटक रहे ताला।

साल बीत रहे लेकिन काम नहीं हो रहा पूरा
शासन की मंशा के अनुरूप ग्राम पंचायतों में प्राथमिकता के आधार पर पंचायत भवनों का निर्माण कराया गया है। लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी शासन की मंशा परवान नहीं चढ़ पाई है। कई पंचायतों में एक साल के बाद अभी भी निर्माण कार्य अधर में हैं। पंचायत सहायक की नियुक्ति के बाद बीते वर्ष दिसम्बर माह से वेतन दिया जा रहा। लेकिन जहां पंचायत घरों का निर्माण पूरा हो गया है वहां प्रायः ताला ही लटक रहा और पंचायत सहायक गायब मिल रहे है।

नाम के लिए कराया गया निर्माण।
नाम के लिए कराया गया निर्माण।

अधिकारियों से हो चुकी है शिकायत
गांव के जयप्रकाश यादव, बृजेश कुमार, सत्यजीत कुमार,अनील कुमार, मनीष कुमार, सचिन, दिनेश राजभर आदि ने बताया बीते छःमाह से गांव में पंचायत भवन के माध्यम से सरकार की महत्वकाक्षीं योजनाओं लाभ गांव के लोगों को पहुचानें का प्रावधान चल रहा है लेकिन यहां पर लगातार पंचायत भवन दुर्खुर्शी बंद है और सभी तैनात कर्मचारी अनुपस्थित रह रहे है। जिसकी शिकायत ब्लाक मुख्यालय के अधिकारिओं से किया गया परन्तु किसी ने इसकी सुध नहीं ली।

खबरें और भी हैं...