गाजीपुर में डिब्बा व्यवसायी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या:पत्नी ने लगाया जेठ और जेठानी पर प्रताड़ना का आरोप

गाजीपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
व्यापारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या। - Dainik Bhaskar
व्यापारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या।

गाजीपुर में नगर कोतवाली के सनबाजार (कचौड़ी गली) निवासी डिब्बा व्यवसायी धीरज वर्मा ने फंदे पर लटक कर जान दे दी। मामले में धीरज की पत्नी सुनीता ने जेठ विष्णु और जेठानी पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है।

सामान पैक करने का करते थे काम

धीरज वर्मा सोना के सामान को पैक करने के लिए डिब्बे बनाते थे। साथ ही कपड़े का भी व्यवसाय करते थे। धीरज का बड़े भाई से कुछ दिन पहले विवाद हो गया था। हाल में भी किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी। इस कारण दो-तीन दिनों से वे तनाव में थे। शुक्रवार को दिन में उन्होंने अपने कमरे में सीढ़ी के एल्म्यूनियम के पाइप में रस्सी के फंदे से लटकर आत्महत्या कर ली।

बड़े भाई की पत्नी से हुई थी शादी

पत्नी सुनीता ने कमरे में धीरज को लटकते हुए देखा तो उसके होश उड़ गए। लोगों के मुताबिक विष्णु को कांशीराम शहरी आवास में भी कमरा मिला है। वह दोनों जगहों पर रहता था। चार भाइयों विष्णु, रिंकू और टिंकू में धीरज सबसे छोटे थे। माता-पिता का बहुत पहले ही देहांत हो चुका है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। देर शाम उसका अंतिम संस्कार किया गया।

10 साल पहले हुई थी भाई की मौत

धीरज वर्मा की पारिवारिक स्थिति सही नहीं है। बड़े भाई टिकू का करीब 10 वर्ष पूर्व प्रयागराज से आते समय सड़क हादसे में मौत हो गई थी। इसके बाद उसकी पत्नी से ही धीरज की शादी करा दी गई। इनके तीन बच्चे हैं। मृतक धीरज की पत्नी सुनीता ने बड़े भाई विष्णु और उसकी पत्नी के खिलाफ प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। इसके आधार पर प्रताड़ना का मुकदमा पंजीकृत कर जांच-पड़ताल की जा रही है।