सेवराई के भदौरा में एक्सप्रेस ट्रेनों के ठहराव की मांग:डीआरएम को संबोधित ज्ञापन स्टेशन मास्टर को सौंपा

सेवराई11 दिन पहले

सेवराई तहसील क्षेत्र के एक प्रतिनिधिमंडल ने भदौरा रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों का ठहराव सुनिश्चित कराने के लिए स्टेशन अधीक्षक को पत्रक सौंपा। पत्रक में बताया कि कोविड-19 काल में बंद ट्रेनों का परिचालन शुरू होने के बावजूद भदौरा रेलवे स्टेशन पर उसका ठहराव सुनिश्चित नहीं किया गया है।

यात्रियों ने बताया कि भदौरा रेलवे स्टेशन टिकट बिक्री में तीसरा स्थान रखता है। इसके साथ ही आसपास के दर्जनों गांव के सैकड़ों लोग सेवराई तहसील एवं ब्लॉक मुख्यालय और अस्पताल के दर्जनों अधिकारी, कर्मचारी प्रतिदिन यात्रा करते हैं। पत्रक के माध्यम से सभी ने भदौरा रेलवे स्टेशन पर पूर्व में रुक रही फरक्का एक्सप्रेस, पटना कोटा एक्सप्रेस का पुनः ठहराव सुनिश्चित करने की मांग की।

दिल्ली-हावड़ा मेन रेल लाइन के पटना डीडीयू रेल खंड स्थित भदौरा रेलवे स्टेशन पर कोविड-19 में बंद हुई एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव पुन: चालू नहीं होने से यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

ट्रेनों के ठहराव के लिए विगत दिनों उद्योग व्यापार मंडल के नेतृत्व में व्यापारियों के प्रतिनिधि मंडल ने स्टेशन अधीक्षक रमेश कुमार को पत्रक सौंपकर फरक्का एक्सप्रेस व पटना कोटा एक्सप्रेस के ठहराव की मांग की थी। किसी ट्रेन के ठहराव नहीं होने से यहां के यात्रियों को ट्रेन पकड़ने के लिए दिलदारनगर, गहमर या फिर बिहार प्रांत के बक्सर को जाना पड़ता है।

भदौरा में हैं कई कार्यालय और घनी आबादी

भदौरा स्टेशन अंतर्गत सेवराई तहसील एवं भदौरा ब्लाक मुख्यालय है, जिनमें विभिन्न विभागों के कार्यालय हैं। भदौरा प्रमुख बाजार होने के साथ घनी आबादी वाला क्षेत्र है। यहां अस्पताल, विद्यालय, यूनियन बैंक एवं ग्रामीण बैंक की शाखाएं हैं। सभी का निकटतम एवं गृह रेलवे स्टेशन भदौरा है। यहां के निवासी इसी रेलवे स्टेशन से यात्रा करते हैं।

भदौरा रेलवे स्टेशन पर मौजूदा समय में मात्र मेमू स्पेशल पैसेंजर ट्रेन का ठहराव है। कोरोना काल में बंद हुई फरक्का एक्सप्रेस व पटना कोटा एक्सप्रेस ट्रेन के ठहराव की मांग क्षेत्रीय लोगों सहित व्यापारियों ने रेल प्रशासन से की है ताकि उनकी परेशानी समाप्त हो। इस बाबत स्टेशन अधीक्षक रमेश कुमार ने बताया कि पत्रक को संबंधित उच्चाधिकारियों को प्रेषित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...