दिल्ली-हावड़ा रूट पर चलने वाली पैसेंजर ट्रेन शौचालय विहीन:विषम परिस्थितियो का सामना करने को यात्री मजबूर, महिला यात्रियों को होती है अत्यधिक परेशानी

सेवराई (गाजीपुर)6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंडित दीनदयाल उपाध्याय दानापुर रेल खंड के विभिन्न स्टेशनों पर संचालित पैसेंजर ट्रेनों में शौचालय की सुविधा न होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जहां एक तरफ सरकार स्वच्छ भारत मिशन योजना अंतर्गत गांव गांव घर घर शौचालय बनवाकर लोगों को जागरुक करने का कार्य कर रहा है। वहीं ट्रेन में शौचालय न होने से यात्रियों को विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय दानापुर रेलखंड पर करीब 4 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों का संचालन किया जाता है। यह ट्रेन अपने गंतव्य से यात्रियों को आवागमन के लिए संसाधनों में से एक है। रोजाना करीब दस हजार से ऊपर रेल यात्री विभिन्न स्टेशनों से ट्रेनों के जरिए यात्रा करते हैं।

रेलयात्री दीपक अग्रहरि, शौकत अली, अरुण गुप्ता, दिनेश गिरी, नौशाद खान, गोविंद जी बर्मा आदि ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय दानापुर से पटना जंक्शन के बीच संचालित 4 जोड़ी सवारी गाड़ियों में शौचालय की सुविधा नहीं दी गई है जिससे रेल यात्रियों को यात्रा के दौरान विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है।

ट्रेन की कई बोगियों में नहीं है शौचालय।
ट्रेन की कई बोगियों में नहीं है शौचालय।

रेलयात्री बाहरी शौच के लिए मजबूर
रेल यात्रियों ने बताया कि शौचालय विहीन होने के कारण यात्रा के दौरान हमें मजबूरी बस विभिन्न स्टेशनों पर झाड़ियों में जाकर शौच करने पर विवश होना पड़ता है। वहीं सबसे ज्यादा परेशानी महिला व बुजुर्ग यात्रियों को होती है। ट्रेन खुलने के आशंका के कारण महिला यात्रियों को घंटों शौचालय के इंतजार में पेट दबाकर बैठना पड़ता है। बताया कि विषम परिस्थितियों में महिला यात्रियों की तबीयत खराब हो जाती है।

लंबी दूरी की ट्रेन फिर भी शौचालय विहीन
रेल नियमों को दरकिनार कर इस रूट पर संचालित ट्रेनों में शौचालय की सुविधा न होने पर रेल यात्रियों ने प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन पर सवालिया निशान खड़े किए हैं। बताया कि लंबी दूरी की ट्रेन होने के बावजूद इन ट्रेनों में शौचालय की सुविधा नहीं दी गई है। कुछ एक बोगियों में शौचालय तो हैं, लेकिन उसके गेट के लॉक को वेल्डिंग करके लॉक कर दिया गया है, जिसके उसका उपयोग नहीं हो पा रहा है।

खबरें और भी हैं...