सेवराई में स्वास्थ्य कर्मियों ने कूड़े में लगाई आग:धुंए की वजह से लोगों की मुश्किलें बढ़ी, आसपास के लोगों का सांस लेने में परेशानी

सेवराई14 दिन पहले

सेवराई तहसील क्षेत्र के स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डंप किए गए कूड़े के ढेर में स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा आग लगाने से उसका धुआं आस पास के गांवों में गूंज रहा है। कूड़े में लगी आग से निकल रहे जहरीले धुएं से लोग परेशान हो रहे हैं। रविवार सुबह से लगी आग को कई घण्टो तक भी बुझाया नहीं जा सका।

अस्पताल से प्रतिदिन कचरा निकलता है। कचरा निस्तारण के लिए परिसर में बने प्लांट में कूड़ा डंप किया जाता है। लंबे समय से डंप किए जा रहे कूड़े के चलते यहां कूड़ों का पहाड़ बन गया है। इसी कूड़े में आग लगाई गई। सुबह होते होते कूड़े के इस ढेर में चारो तरफ आग फैल गई। सेवराई के आसपास इलाको में भी जहरीला धुआं गूंजने लगा। धुआं गूंजने के चलते लोगों का दम घुटने लगा, कई लोग खांसी से परेशान हो गए।

ग्रीष्मकालीन मौसम में ठोस अपशिष्ट के निस्तारण की कोई ठोस कार्रवाई न होने पर क्षेत्रीय लोगों ने नाराजगी जताई है। उन्होंने प्रभारी अधिकारियों से कूड़ा निस्तारण में रुचि न लेने पर नाराजगी व्यक्त की। कहाकि कूड़ा जलाने से लोगो का स्वास्थ्य ही खराब नहीं हो रहा है बल्कि इसका विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को कूड़े के सही निस्तारण की मांग की है। कहां की आधुनिक व्यवस्थाओं के माध्यम से कूड़े का निस्तारण किया जाना चाहिए। स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा की गई यह लापरवाही कतई क्षम्य नहीं है।

अस्पतालों की गंदगी खराब दवाएं व मरीजों के चोट से निकले अपशिष्ट में लगाई गई आग से धुंए के कारण लोगों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होंगे। आग लगने से चारों तरफ धुआं फैल गया। इसके चलते भदौरा गोड़सरा मार्ग पर आवाजाही करने वालों, भदौरा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने आए यात्रियों को समस्या झेलनी पड़ी। कुछ देर आवाजाही भी बाधित रही। अस्पताल के कूड़े में आग लगने से आसपास धुआं और धुंध से घिर गया। कूड़े से निकलने वाली दुर्गंध और धुंए के चलते लोगों को यहां से गुजरने में परेशानी हुई।

खबरें और भी हैं...