जमानियां में असाव-सोनहरिया मार्ग दो साल सेजर्जर:सरकार का गड्ढा मुक्त करने का फरमान बेअसर, टेंडर के बाद भी नहीं हुई मरम्मत

जमानियां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार के द्वारा ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का फरमान बेअसर साबित हो रहा है। विभागीय उदासीनता के चलते क्षेत्रीय ग्रामीणों को इन जर्जर मार्गों से गुजरना काटों भरा सफर साबित हो रहा है। जमानियां क्षेत्र के असाव से सोनहरिया मार्ग जिसकी लंम्बाई करीब ढाई किमी है का निर्माण पिछले दस साल पहले अठ्ठारह लाख की लागत से कराया गया था। मगर देखरेख व मरम्मत न होने से यह सड़क करीब दो साल से बदहाल है।

ग्रामीणों ने बताया कि यही नहीं इसके मरम्मत के लिए विभाग के द्वारा एक साल पहले टेंडर मंजूर किए जाने के बावजूद इसका मरम्मत आज तक शुरू नहीं हो सका है। इस लापरवाही को लेकर असाव सोनहरिया सहित क्षेत्रीय लोगो मे विभाग के प्रति रोष व्याप्त है। रामशीला,इंद्रजीत,मोनू अंसारी,मुन्नीलाल,बुद्धनारायण उपाध्याय, नागेन्द्र यादव आदि ग्रामीणों ने बताया कि यह मार्ग क्षेत्र के एक दर्जन गावों से जुडा है ,जिससे प्रतिदिन सैकडों मुसाफिरों सहित छोटे बडे वाहनों का आवागमन बना रहता है। बताया कि बरसात के मौसम में इस मार्ग से गुजरना हादसे को‌ दावत देना है।

बदहाल सड़क का नमूना
बदहाल सड़क का नमूना

मजबूरी में‌ लोगों को ढाई किमी दूरी दस किमी में तय करनी पड़ रही है
असाव ,विशुनपुरा,अवंति, नगसर,गोहन्दा, नूरपूर, भुवालचक, चवरी,महुवारी, फुल्ली ,टिसौरी होकर आना जाना पडता है। आए दिन राहगीर गिरकर चोटिल हो रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि सबसे हैरानी कि बात यह कि इस मार्ग से क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि से लगायत अधिकारियों का आए दिन आवागमन होता रहता है,मगर आज तक इस बदहाल मार्ग के बदहाली को दूर करने के लिए कोई ठोस योजना नहीं बनाई गई।

परेशान ग्रामीण
परेशान ग्रामीण

साथ ही क्षेत्रीय लोगों ने चेताया कि अगर यही स्थिति रही तो जल्द ही सडक पर धरना प्रदर्शन के साथ ही अनशन करने को बाध्य होगें जिसकी पूरी जिम्मेदारी विभाग की होगी। लोनिवि के अवर अभियंता अमित सिंह यादव ने बताया कि सड़क पास हो गई है,जल्दी ही कार्य चालू करके एक सप्ताह के भीतर मरम्मत कार्य को पूरा कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...