जमानियां...पति को नही मिला न्याय तो पत्नी दे चेतावनी:मृतक की पत्नी ने बच्चों संग आत्मदाह की दी चेतावनी, 18 दिनों बाद भी बद्रे आलम के हत्यारो का नहीं लगा सुराग

जमानियां9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जमानियाँ कोतवाली क्षेत्र के मुहम्मदपुर गांव निवासी बद्रे आलम की हत्या 26-27 अप्रैल की रात्रि शेरपुर गांव के सिवान में गला रेत कर हुई। जिसे बाद मुकदमा दर्ज हुआ लेकिन आज तक गिरफ्तारी नहीं हुई।

पुलिस की इस कार्य प्रणाली से नाराज होकर मृतक की पत्नी तमन्ना ने आज शनिवार को जमानियां एसडीएम से मिली और तीन सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। चेताया कि एक सप्ताह में मांगे पूरी न होने पर बच्चों के साथ आत्मदाह करने की चेतावनी दी।

मृतक की पत्नी तमन्ना ने बताया कि उसके पति की गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी गई लेकिन आज तक नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं हुई।जिसके कारण हत्या आरोपियों के हौसले बुलंद होते जा रहे है।

तमन्ना ने बताया कि उसे व अन्य परिवार के अन्य सदस्यों को बदमाशों से जान का खतरा है ,बताया कि मेरे पति ने ग्रामीणों संग गांव के पूर्व प्रधान नजीबुन के कार्यों की जांच व रिकवरी कराने के लिए शिकायत किया था।

साथ ही नजीबुन के पति अब्बास द्वारा मादक पदार्थों की तस्करी से अपने परिवार के सदस्यों के नाम आय से अधिक संपत्ति बनाई जिसके जांच सहित अब्बास से अपनी जान माल के खतरे के बारे में शासन प्रशासन को लिखित सूचना दी जाती रही।

आरोप लगाया कि प्रशासन द्वारा अपराधियों के खिलाफ ठोस कार्यवाही के बजाए आरोपियों से यारी निभायी जा रही थी। यही कारण है कि आज मेरा सुहाग उजड़ गया है।

तमन्ना ने बताया कि वह अपने पति के अधूरे कार्य को पूरा करायेगी। उन्होंने तीन सूत्रीय मांग पत्र उपजिलाधिकारी को सौंपा और कहा कि यदि मांगों को गंभीरता से लेते हुए पूर्ण नहीं किया गया तो एक सप्ताह बाद तहसील परिसर में अपने बच्चों के साथ आत्मदाह कर लेगी।

जिस पर उपजिलाधिकारी भारत भार्गव ने आश्वासन दिया कि शासन प्रशासन आपके साथ है और जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

खबरें और भी हैं...