तीन युवकों की मौत से गांव में छाया मातम:करंट लगने से हुई थी तीनों की मौत, बिजली विभाग के जेई के खिलाफ मुकदमा दर्ज; ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त

करनैलगंज5 महीने पहले

करनैलगंज तहसील अंतर्गत कोचा कासिमपुर गांव में बीती देर शाम विद्युत करंट की चपेट में आने से तीन युवकों की हुई मौत के बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया। एक तरफ जहां पूरे गांव में मातम छाया, वहीं दो परिवारों की खुशियां भी पूरी तरह बर्बाद हो गई। इस दर्दनाक हादसे के बाद पूरे गांव के लोगों में बिजली विभाग के खिलाफ जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त है। गांव में हजारों की संख्या में उमड़े लोगों के सैलाब में हर चेहरों पर गम और आंखों में आंसू ही दिख रहा है। हर तरफ चीख और पुकार से पूरा गांव सहमा हुआ है।

जिसको लेकर मृतक युवकों के पिता ने बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जेई के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की, जिस पर पुलिस ने पिता की तहरीर पर बिजली विभाग के जेई के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

जाने कैसे हुई घटना
घटना कल देर शाम की है, जहां कोंचा कासिमपुर गांव के निवासी सेवानिवृत्त एनपीएस बाबू हरिराम के दो बेटे सुमित कुमार (20) व विनय कुमार (25) तथा गांव के निवासी सहजराम का पुत्र शुभम (18) तीनों बाइक पर सवार होकर एक साथ दुकान बंद करके चोरी चोराहे से अपने घर की ओर जा रहे थे। तभी गांव के किनारे परागे लोहार के घर के समीप विद्युत विभाग की 11000 की हाईटेंशन लाइन, विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते पहले से गिरे हुए तार के संपर्क में आ गई, जिसकी चपेट में आने से तीनों युवकों की दर्दनाक मौत हो गई। जिसके बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया।

हादसे को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त
घटना की सूचना पर तुरंत मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने परिजनों को सूचित कर बिजली विभाग को फोन कर लाइन बंद करने को कहा, जिसके बाद बिजली विभाग ने लाइन बंद किया, लेकिन जब तक बिजली भाग कार्रवाई करता। उससे पहले ही तीनों युवकों की मौत हो गई, जिसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। जिसके बाद आज पूरे गांव में मातम छाया हुआ है। हर तरफ चीख-पुकार व रोने की आवाज से पूरा गांव सहमा हुआ है।

मृतकों के घर पर लोगों की लगी भीड़।
मृतकों के घर पर लोगों की लगी भीड़।

पिता की तहरीर पर दर्ज हुआ मुकदमा
इस घटना के बाद एक तरफ जहां दो परिवारों की खुशियां मातम में बदल गई, वहीं घटना के बाद हजारों की संख्या में गांव के लोग सड़क पर नजर आए। घटना के बाद मृतक सुमित कुमार व विनय कुमार के पिता हरिराम ने प्रभारी निरीक्षक को शिकायती प्रार्थना पत्र देकर बिजली विभाग के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप
हरिराम ने जानकारी देते हुए बताया बिजली से हुई घटना में उनके दो बेटे व एक और लड़के की मौत हुई, जिसकी जिम्मेदारी बिजली विभाग की है। उन्होंने बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा इस घटना के पूर्व तार गिरने की सूचना विभाग को दी गई। यही नहीं गांव वालों के द्वारा बिजली विभाग के जेई पवन कुमार को भी कई बार फोन किया गया, लेकिन उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया, न ही कोई कार्रवाई की गई, जिसके चलते यह दर्दनाक हादसा हुआ। पिता के द्वारा दी गई तहरीर पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बिजली विभाग के जेई के खिलाफ गैर इरादतन हत्या के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

इस दर्दनाक हादसे के बाद पूरे गांव के लोगों में बिजली विभाग के खिलाफ जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त है।
इस दर्दनाक हादसे के बाद पूरे गांव के लोगों में बिजली विभाग के खिलाफ जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त है।

विद्युत विभाग ने लिया घटनास्थल का जायजा
विद्युत सुरक्षा निदेशालय से इंस्पेक्टर अखिलेश जायसवाल व एसडीओ नर्सिंग नरायन भारती ने घटना स्थल का जायजा लिया। उन्होंने बताया बारिश के दौरान शीशम पेड़ के गिरने से केबिल टूटकर जमीन पर गिर गई थी। जिसकी चपेट में आकर तीनों युवकों की मौत हो गई थी। जांच की जा रही है, लापरवाह कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गांव में हुए दर्दनाक हादसे के बाद हजारों लोगों में आक्रोश व्याप्त है। इस दर्दनाक हादसे के बाद हरिराम के दोनों पुत्र सुमित कुमार व विनय कुमार का अंतिम संस्कार कर्नलगंज के सरयू नदी तट कटरा घाट पर होगा। वहीं सहजराम के पुत्र शुभम के अंतिम संस्कार का इंतजार किया जा रहा है, क्योंकि उनके परिजन जम्मू कश्मीर में हैं, जिनके आने के बाद ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए गांव में एसडीएम हीरालाल, क्षेत्राधिकारी मुन्ना उपाध्याय, प्रभारी निरीक्षक सुधीर कुमार सिंह के साथ भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। जिससे शांतिपूर्ण तरीके से मृतकों का अंतिम संस्कार कराया जा सके।