सात दिवसीय बालिका सप्ताह का हुआ समापन:बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के साथ-साथ कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए किया गया जागरूक

करनैलगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महिला कल्याण विभाग द्वारा राष्ट्रीय बालिका के दिवस के उपलक्ष्य में 18 से 24 जनवरी तक चलाये जा रहे ‘बालिका सप्ताह’ के समापन पर शिक्षा क्षेत्र झंझरी के उच्च प्राथमिक विद्यालय परेड सरकार में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के दौरान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के बारे में लोगों को जागरूक करते हुए आधुनिक युग में बेटों के साथ साथ बेटियों को भी समान अधिकार देने के लिए लोगों को जागरूक किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रभारी महिला कल्याण अधिकारी ज्योत्सना सिंह व संरक्षण अधिकारी चन्द्रमोहन वर्मा ने किया।

कन्याओं की भ्रूण हत्या अपराध है

महिला कल्याण अधिकारी श्रीमती ज्योत्सना सिंह ने कहा कि कन्याओं की भ्रूण हत्या अपराध है, इसकी रोकथाम के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट प्रभावी है। पूर्व गर्भाधान और प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम के तहत प्रसव पूर्व लिंग निर्धारण पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

जन्म से पूर्व शिशु के लिंग की जांच पर पाबंदी

संरक्षण अधिकारी चंद्रमोहन वर्मा ने कहा कि कन्याओं को उचित शिक्षा के साथ उनके पोषण पर भी ध्यान रखें। उन्होने सभी से अपील किया कि सभी अपने घरों में बेटो की तरह बेटियों को भी समान अधिकार दें। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए चाइल्ड लाइन के प्रभारी आशीष मिश्रा ने कहा कि महिलाओं व बच्चों के लिए टोल फ्री नम्बर 1090 व 1098 संचालित है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर इन नम्बरों पर फोन कर मदद प्राप्त की जा सकती है। कार्यक्रम को वन स्टाप सेंटर की प्र. सेंटर मैनेजर स्वाती पाण्डेय व केसवर्कर निधि त्रिपाठी ने भी संबोधित किया। इस दौरान कांस्टेबल बबिता सिंह, आरक्षी सरिता, कांस्टेबल अरविन्द राय, प्रधान परेड सरकार अनन्त प्रकाश शुक्ला, ज्वाली सिंह आदि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...