गोंडा में करोड़ों की संपत्ति के मालिक की हत्या:बेटे को मैसेज कर मांगी थी 11 लाख की फिरौती, नहीं दिया तो मार डाला

करनैलगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कर्नलगंज में एक व्यक्ति के अपहरण के बाद मौके पर पहुंचे एसपी ने पुलिस कर्मियों के साथ जांच की। - Dainik Bhaskar
कर्नलगंज में एक व्यक्ति के अपहरण के बाद मौके पर पहुंचे एसपी ने पुलिस कर्मियों के साथ जांच की।

गोंडा में सोमवार को बुजुर्ग जमींदार का अपहरण हुआ था। बुधवार को 36 घंटे बाद उसका शव गांव के पास पड़ा मिला। बदमाशों ने बेटे के फोन पर मैसेज कर 11 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। बेटे ने इसकी जानकारी पुलिस को दी थी।

फिरौती की रकम न देने और पुलिस से शिकायत करने से नाराज बदमाशों ने हत्या कर शव कंचनपुर फरेंदा नहर पुल के पास फेंक दिया। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद भेजकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

80 बीघा जमीन और 12 दुकान के मालिक थे बुजुर्ग
मृतक जमींदार का नाम रामसेवक है। वह गन्ना समिति विभाग से रिटायर्ड हो चुके हैं। 58 साल के रामसेवक मूल रूप से बहराइच के रहने वाले हैं। गोंडा के कर्नलगंज में उनकी करीब 80 बीघे जमीन है। साथ ही मेन पर करीब 12 दुकानें हैं। इनमें से कुछ दुकानें किराए पर उठी हुई हैं और कुछ खाली हैं।

तीन बेटों में सबसे छोटा बेटा प्रवीण किराना की दुकान चलाता है और दो बेटे घर पर किसानी करते हैं। सोमवार को रोज की तरह घर से दुकान गए थे। वहां रात करीब 11 बजे अपनी दुकान से कुछ ही दूरी पर स्थित खेत देखने गए थे। इसके बाद वह वापस नहीं लौटे।

कर्नलगंज में बुजुर्ग के अपहरण के बाद मौके पर एसपी पहुंचे थे।
कर्नलगंज में बुजुर्ग के अपहरण के बाद मौके पर एसपी पहुंचे थे।

बेटे ने बताई पिता के अपहरण की कहानी
रामसेवक के बेटे प्रवीण ने बताया, "रोज की तरह पिता जी शाम को दुकान पर गए थे। वहां से रात में एक बार वह खेत देखने गए थे, लेकिन वहां से नहीं लौटे। वह रात में वहीं रुक जाया करते थे, इसलिए हमने बात को गंभीरता से नहीं लिया। रात में करीब 2.30 बजे पिता के मोबाइल फोन से एक मैसेज आया, जिसमें लिखा था कि 'तुम्हारे पिता जी का अपहरण हो गया है, कल शाम 5 बजे तक 11 लाख रुपए दो नहीं तो इनको मार दिया जाएगा'। सुबह मैसेज देखने के बाद मैं दुकान की तरफ भागा। वहां पिता के न मिलने पर आसपास उनकी खोजबीन की, लेकिन कोई पता नहीं चल सका। पिता के फोन पर कॉल किया, लेकिन नंबर स्विच ऑफ आया। इसके बाद पुलिस के पास जाकर पिता के अपहरण की सूचना दी और गुमशुदगी दर्ज करवाई"।

कर्नलगंज में बुजुर्ग के अपहरण के बाद मौके पर एसपी ने जांच पड़ताल की।
कर्नलगंज में बुजुर्ग के अपहरण के बाद मौके पर एसपी ने जांच पड़ताल की।

एसपी ने कई टीमों को खुलासे के लिए किया था एक्टिव
इस घटना के बाद पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने क्षेत्राधिकारी मुन्ना उपाध्याय के साथ गांव में पहुंचकर परिजनों से मिलकर बातचीत की थी। साथ ही उन्होंने बेटे के मोबाइल पर किए गए मैसेज को देखकर तुरंत कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था। पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत सर्विलांस टीम, एसओजी, डॉग स्क्वायड और पुलिसकर्मियों को तत्काल कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था।

प्रापर्टी विवाद में हत्या की आशंका
शाम को बुजुर्ग का शव मिलने के बाद एसपी ने प्रापर्टी विवाद में हत्या होने की बात कही है। साथ ही एसपी का कहना है कि शव दो दिन पुराना लग रहा है। ऐसा लग रहा है जैसे आरोपियों ने गुमराह करने के लिए फिरौती की मांग की थी। जबकि हत्या पहले ही की जा चुकी थी।

खबरें और भी हैं...