कर्नलगंज में बाढ़ से प्रभावित बच्चों की पाठशाला शुरू:आर्मी की तैयारी कर रहा युवक दे रहा निःशुल्क शिक्षा, SDM ने की प्रशंसा

कर्नलगंज (गोंडा)एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भीषण बाढ़ का दंश झेल रहे कर्नलगंज क्षेत्र में सिर्फ किसान ही नहीं, बल्कि मासूम बच्चे भी प्रभावित हुए हैं। बाढ़ के दंश से जहां किसानों की फसल बर्बाद हुई, वहीं बाढ़ के प्रभाव के कारण बच्चों की शिक्षा भी बुरी तरह प्रभावित हो रही है। नन्हे-मुन्ने बच्चों की शिक्षा को देखते हुए गांव के एक होनहार युवक ने पहल की है। आर्मी की तैयारी कर रहे युवक ने बांध पर ही स्कूल बनाकर बच्चों की शिक्षा का इंतजाम किया है।

ताकि बाढ़ के कारण विद्यालय नहीं पहुंच पाने वाले बच्चों की शिक्षा अधूरी ना रहे। युवक द्वारा शुरू किए गए इस पहल की पूरे गांव में प्रशंसा की जा रही है। इतना ही नहीं, उसके सराहनीय कार्य की स्वयं उप जिलाधिकारी हीरालाल ने भी प्रशंसा की है।

आर्मी की तैयारी कर रहा होनहार युवक
कर्नलगंज क्षेत्र के नकहरा गांव के निवासी 20 वर्षीय सूरज के जज्बे और हौसले ने बाढ़ को भी मात दे दी है। गांव के निवासी सूरज स्नातक की परीक्षा पास कर आर्मी की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने गांव के बच्चों के लिए एक सराहनीय कार्य की शुरुआत की।

बच्चों को पढ़ाना सूरज को अच्छा लगता है
गांव में बाढ़ के चलते पानी भर जाने के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। इससे उनकी शिक्षा भी अधूरी हो रही है। इसको देखते हुए सूरज ने बंधे पर ही स्कूल बनाकर बच्चों के लिए निःशुल्क शिक्षा का प्रबंध किया। गांव के बच्चों को सूरज स्वयं पढ़ा रहे हैं। उनके इस कार्य के पूरे गांव में प्रशंसा की जा रही है। सूरज ने कहा कि बच्चों को पढ़ाना उन्हें अच्छा लगता है। इस तरीके से बच्चे भी आगे बढ़ेंगे, उनका स्कूल नहीं छूटेगा। बाढ़ पीड़ित बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा मुहैया करा रहे 20 वर्षीय नकहारा गांव के सूरज के इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा उप जिलाधिकारी हीरालाल ने की।

खबरें और भी हैं...