प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नहीं आया बजट:गोंडा में 16 हजार गरीबों के पास अभी भी रहने के लिए छत नहीं

गोंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोंडा में प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नहीं आया बजट। - Dainik Bhaskar
गोंडा में प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए नहीं आया बजट।

जिले में 16 हजार गरीबों के पास अभी भी रहने के लिए छत नहीं है। साल 2021 में 9,162 गरीबों का सपना पूरा हो गया था। इसके बाद से 16 हजार लाभार्थी अभी भी प्रधानमंत्री आवास योजना की सौगात का इंतजार कर रहे हैं। साल 2022-23 वित्तीय वर्ष के छह माह पूरे होने को है, लेकिन अभी तक आवास के लिए बजट जारी न होना चौंकाने वाला है। फिलहाल माना जा रहा है कि वित्तीय वर्ष में अभी छह माह का समय शेष है, उम्मीदें बरकरार है।

प्रधानमंत्री आवास योजना पूरी तरह से केंद्र सरकार के अनुदान की योजना है। इसके तहत लाभार्थियों का चयन भले पंचायतों में सर्वे के आधार पर होता है, लेकिन बजट केंद्र से सीधे लाभार्थियों के खातों में जाता है। ऐसे में स्थानीय स्तर से ज्यादा कुछ नहीं हो पाता। केंद्र से बजट तय होने के बाद सूचीबद्ध आवासविहीन लोगों का चयन ऑनलाइन ही होता है।

गरीबों को आवास मिलने की उम्मीद

आवास देने का जो मानक तय हैं, उसमें आवास न होने के साथ गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोग ही आते हैं । इसमें 16 हजार लोग अभी भी आवासविहीन के रूप में दर्ज हैं। इस बार अभी तक न तो आवास का लक्ष्य ही आवंटित हुआ है और न ही बजट मिला है। गरीबों को तो उम्मीद है कि आवास मिलेगा।

साल 2021 में 9162 लाभार्थियों को मिला था लाभ

साल 2021 में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 9162 लाभार्थियों को लाभ मिला था। सीधे गरीबों के खातों में आवास योजना के रुपये खाता में भेजा गया था। 8620 लाभार्थियों के खाते में प्रथम किस्त के रूप में 40-40 हजार की राशि भेजी गई थी। इन लाभार्थियों के खाते में 34 करोड़ 48 लाख का बजट दिया गया था।

पहली किस्त में 542 लाभार्थियों को भेजे गए थे रुपये

542 लाभार्थियों के खाते में दूसरी किस्त के रूप में 70-70 हजार भेजे गए। दूसरी किस्त में तीन करोड़ 79 लाख 40 हजार का बजट दिया गया। जिले के प्रथम व द्वितीय किस्त के 9162 लाभार्थियों के खाते में कुल 38 करोड़ 27 लाख 40 हजार का बजट दिया गया था। लेकिन इस साल आवास योजना से बजट नहीं मिल सका है।

गोंडा जिला अधिकारी डॉ. उज्जवल कुमार ने बताया कि आवास योजना के लाभार्थियों की सूची ऑनलाइन है। बजट जारी होने पर पात्रों को योजना का लाभ मिलेगा। केंद्र सरकार से योजना का बजट जारी होता है।

खबरें और भी हैं...