गोंडा में अधिवक्ता परिषद ने मनाया संविधान दिवस:अवध प्रांत संयोजक बोले-लोकतांत्रिक व्यवस्था की बुनियाद है मूल अधिकार

गोंडा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोंडा में अधिवक्ता परिषद ने मनाया संविधान दिवस। - Dainik Bhaskar
गोंडा में अधिवक्ता परिषद ने मनाया संविधान दिवस।

गोंडा मूल अधिकार लोकतांत्रिक व्यवस्था की बुनियाद है, क्योंकि व्यक्ति स्वतंत्रता और गरिमा के साथ जीवन जिये यही संवैधानिक व्यवस्था का आदर्श स्वरूप है। यह बातें अधिवक्ता परिषद की ओर से संविधान दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए अवध प्रांत के संयोजक अमरनाथ मिश्रा ने कही।

सिविल कोर्ट सभागार में रविवार को आयोजित संगोष्ठी का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन व मां भारती को पुष्पार्पण के साथ हुआ। मुख्य अतिथि प्रभारी जिला जज नासिर अहमद ने कहा कि न्यायिक व्यवस्था संवैधानिक मूल्यों के संरक्षण के लिए कृत संकल्प है। ये हम सभी का कर्तव्य है कि हम अपने लोकतंत्र को मजबूत करने में हर स्तर पर अपना सकारात्मक योगदान प्रदान करें।

कार्यक्रम को संबोधित करने वाले वक्ता

कार्यक्रम को अधिवक्ता परिषद के संस्थापक सदस्य केके श्रीवास्तव, जिला संघ संचालक श्रीमान सिंह, संरक्षक घनश्याम पांडे, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महाराज श्रीवास्तव, सिविल बार के अध्यक्ष उपेंद्र मिश्रा, पू्र्व अध्यक्ष त्रिपाठी, अपर जिला जज सर्वजीत कुमार सिंह व राजेश कुमार ने भी संबोधित किया।

अतिथियों का स्वागत जिला अध्यक्ष ने किया

अतिथियों का स्वागत जिला अध्यक्ष अरविंद सिंह ने किया। संगोष्ठी का संचालन महामंत्री धनलाल तिवारी ने किया। इस अवसर पर रितेश यादव, गौरीशंकर चतुर्वेदी, केके द्विवेदी, राजाबाबू गुप्ता, केपी सिंह, अवधकिशोर पांडेय, रमेशचंद्र गुप्ता, अनुपम शुक्ला, संतोष पांडे, चन्द्रशेखर सिंह, शैलेन्द्र कुमार मिश्रा, अनिल सिंह, ज्ञान प्रकाश मिश्रा, अजय विक्रम सिंह, मनमोहन मिश्रा, आनंद पांडेय, अजय तिवारी, लालजी मिश्रा, रमेश सिंह, विनोद सिंह, वंदना, मदनमोहन त्रिपाठी, शैलेंद्र सिंह, अभिनव उपाध्याय सहित भारी संख्या में अधिवक्ता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...