राज ठाकरे का विरोध:सांसद बृजभूषण शरण सिंह का विरोध करना कहीं प्रदेश स्तर का नेता बनने की छटपटाहट तो नहीं ?

गोंडा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सांसद बृजभूषण शरण सिंह गोंडा ही नहीं आस पास के जनपदों में जनसभा कर लोगों से समर्थन और सहयोग मांग रहे हैं। सांसद ने आसपास के जनपदों के साथ उत्तराखंड, झारखंड, बिहार में भी जनसभाएं लगा चुके हैं। सभी जगह अपने समर्थन में सहयोग मांग रहे हैं। उनका कहना है कि मुंबई में मनसे के कार्यकर्ता राज ठाकरे के कहने व सह देने पर गर्भवती महिलाओं, मजदूरों, परीक्षा देने गए छात्रों, उत्तर भारतीयों की पिटाई की गई। जिसे उत्तर भारतीय भूल नहीं सकते। सांसद का कहना है कि राज ठाकरे पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगे फिर राम लला के दर्शन करने अयोध्या आए।

सांसद के इस आंदोलन से सभी सहमत नहीं

अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह भी कह चुके हैं कि राज ठाकरे को रोकने का कार्य भाजपा नहीं कर रही है। ये सांसद बृजभूषण का व्यक्तिगत विरोध है। लल्लू सिंह ने कहा हम ही नहीं पूरी अयोध्या राज ठाकरे का स्वागत करेगी। वहीं अयोध्या के साधुओं ने भी स्वागत किया है। कहा है राम, सभी के हैं। दर्शन में कोई सियासत न करे। वहीं गोंडा आए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने सांसद के इस आंदोलन पर 'राज ठाकरे वापस जाओ' के सवाल पर कोई जवाब नहीं दिया। बल्कि हाथ उठाकर सवाल न पूछने को कहा था।

होर्डिंग लगाकर सांसद अपने लिए समर्थन मांग रहे हैं।
होर्डिंग लगाकर सांसद अपने लिए समर्थन मांग रहे हैं।

जगह-जगह लगाए 'राज ठाकरे वापस जाओ' की होर्डिंग

जिले ही नहीं आस-पास के जिलों में भी जगह-जगह सांसद ब्रिज भूषण सिंह के समर्थन में होर्डिंग लगाए गए है। होर्डिंग में लिखा गया है कि 'राज ठाकरे माफी मांगों, वरना वापस जाओ'। अब जिले में ही नहीं गैर जिलों में यह चर्चा हो चली है कि कही सांसद की छटपटाहट योगी का विकल्प बनने व दूसरे नम्बर के नेता बनने की तो नहीं है। आखिर कर भाजपा का पूरा अमला न तो विरोध कर रहा है और न ही समर्थन कर रहा है। राज ठाकरे को रोकने के बजाय उत्तर भारतीयों को उत्तर भारत में ही रोजगार देनी की पहल हो, जिससे उत्तर भारतीय मुंबई न जाएं।

खबरें और भी हैं...