गोंडा जिला अस्पताल में भरा पानी:मरीजों को आने-जाने में हो रही परेशानी, प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान

गोंडा4 महीने पहले

गोंडा में लगभग 5 दिनों से हो रही बारिश के बाद जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने पहले से ही अलर्ट जारी कर रखा था। लेकिन आज 1 घंटे हुई बारिश ने गोंडा नगर पालिका प्रशासन के सारे दावों की पोल खोलकर रख दी। गोंडा के निचले इलाकों में सड़कें तालाब बन गई। दुखहरण से जाने वाली ईदगाह रोड पर पानी भरे होने से सड़क पर गाड़िया रेंगती हुई नजर आ रही है।

बाइक और कार के पहिया डूबते नजर आए। गोंडा के मंडलीय चिकित्सालय के निदान के सामने जलभराव हो गया है। जिसके चलते अल्ट्रासाउंड एक्सरे कराने वाले मरीज जलभराव में आने जाने को मजबूर हैं। जब जिला अस्पताल के क्षेत्रीय निदान के सामने पूरा परिसर तालाब में तब्दील है। एंबुलेंस और चार पहिया वाहन और पैदल लोग जलभराव वाले पानी में आने जाने को मजबूर है।

पानी में पैदल चलकर जिला अस्पताल पहुंचे हैं मरीज।
पानी में पैदल चलकर जिला अस्पताल पहुंचे हैं मरीज।

शहर के कई इलाकों में पानी भरा
मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर के अलर्ट किया था। जिसके बाद गोंडा जिला अस्पताल सहित शहर के कई इलाकों में पानी भरा हुआ है। जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिला अस्पताल में एक्सरे और अल्ट्रासाउंड कराने आए मरीज झमाझम भरे पानी के बीच चलकर अल्ट्रासाउंड कराने जा रहे हैं।

जिससे मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। वहीं शहर के ईदगाह, जानकी,नगर सिविल लाइन, सहित शहर के कई निचले इलाकों में पानी भरा हुआ है। बरसात होते ही नगरपालिका की पोल खुलती हुई सामने आ रही है।

बारिश के बाद अस्पताल के बाहर की तस्वीर कुछ इस तरह हो जाती है।
बारिश के बाद अस्पताल के बाहर की तस्वीर कुछ इस तरह हो जाती है।

लोगों को करना पड़ रहा दिक्कतों सामना
जिला प्रशासन द्वारा और नगर पालिका द्वारा कोई भी इंतजाम न किए जाने के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शहर में जिस जगह पर पानी भरा है। वहां पानी निकालने की कोई व्यवस्था अभी तक गोंडा नगर पालिका या जिला प्रशासन द्वारा नहीं किया गया है। पिछले 3 दिनों से हो रही बरसात से शहर के जिला अस्पताल सहित कई निचले इलाकों में पानी भरा हुआ है।

जिला अस्पताल में पानी भरा हुआ है
जिला अस्पताल में भर्ती मरीज के तीमारदार लाल बाबू खान ने बताया कि जिला अस्पताल में पानी भरा हुआ है। जिससे मरीजों को काफी दिक्कत होती है। आने-जाने में तीमारदारों को भी दिक्कत होती है। जैसे ही बरसात होती है तो पर पानी भर जाता है। अभी तक जिला प्रशासन द्वारा कोई पानी निकलने का इंतजाम नहीं किया गया है।

खबरें और भी हैं...