पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर पुलिस का कारनामा:वसूली की शिकायत पर SSP ने कराई गोपनीय जांच, नौसढ़ पुलिस चौकी के 10 सिपाही हुए लाइन हाजिर

गोरखपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोरखपुर में 10 सिपाही लाइन हाजिर। चौकी प्रभारी की चार दिन पहले तैनाती हुई है। हटाए गए चौकी प्रभारी की संलिप्तता की जांच चल रही। - Dainik Bhaskar
गोरखपुर में 10 सिपाही लाइन हाजिर। चौकी प्रभारी की चार दिन पहले तैनाती हुई है। हटाए गए चौकी प्रभारी की संलिप्तता की जांच चल रही।

उत्तर प्रदेश की पुलिस एक बार फिर चर्चा में बनी हुई है। गोरखपुर जिले में एसएसपी ने नौसढ़ चौकी पर तैनात सभी सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया है। उनपर अपराधियों से सांठगांठ रखने और गलत कार्यो में लिप्त होकर वसूली करने के आरोप है। चार दिन पहले हटाए गए चौकी प्रभारी की भूमिका की जांच कराई जा रही है। संलिप्तता मिलने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। एक सप्ताह पहले सिपाहियों के रुपए लेने का एक ऑडियो भी वायरल हुआ था, जो अधिकारियों तक पहुंचा था।

दरअसल, एक सप्ताह पहले ट्रक मालिक व चालक की बातचीत का एक आडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें नो इंट्री के समय रुपए देकर नौसढ़ के रास्ते भारी वाहनों के शहर में प्रवेश दिलाए जाने की बात कही जा रही थी। एसएसपी दिनेश कुमार पी के साथ ही अन्य अधिकारियों तक बात पहुंची। जांच शुरू हुई, लेकिन यह पता नहीं चला कि आडियो में बातचीत कर रहे लोग कौन हैं और कहां के रहने वाले हैं। भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर एसएसपी दिनेश कुमार पी ने नौसढ़ चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों के कार्यप्रणाली की गोपनीय जांच कराई। इसमें पता चला कि चौकी पर तैनात सभी 10 मुख्य आरक्षी/आरक्षी गलत कार्यों में लिप्त हैं। अपराधियों से भी इनकी सांठगांठ है।

चौकी प्रभारी की चार दिन पहले हुई थी तैनाती
एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि गोपनीय जांच के बाद सभी सिपाहियों को लाइन हाजिर किया गया है। चौकी प्रभारी की चार दिन पहले तैनाती हुई है। हटाए गए चौकी प्रभारी की संलिप्तता की जांच चल रही है। साक्ष्य मिलने पर सबके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी।