पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर में GDA उपाध्यक्ष के एक्शन से मचा हड़कंप:वीसी की जांच में गैर हा​जिर मिले 43 कर्मचारी, एक दिन का वेतन काट मांगा स्पष्टीकरण; गैरहाजिर चल रहे अवर अभियंता सैयद रफत मुईन सस्पेंड

गोरखपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जीडीए उपाध्यक्ष को पिछले कई दिनों से कर्मचारियों की उपस्थिति को लेकर शिकायतें मिल रही थीं। सभी प्रमुख कार्यालय का रजिस्टर मंगाकर जांच की गई तो कलई खुल गई। - Dainik Bhaskar
जीडीए उपाध्यक्ष को पिछले कई दिनों से कर्मचारियों की उपस्थिति को लेकर शिकायतें मिल रही थीं। सभी प्रमुख कार्यालय का रजिस्टर मंगाकर जांच की गई तो कलई खुल गई।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह ने कर्मचारियों की उपस्थिति को लेकर बड़ी कार्रवाई की है। सोमवार को उन्होंने सभी विभागों की उपस्थिति पंजिका की जांच की, जिसमें इंजीनियरों समेत 43 कर्मचारी गैर हाजिर मिले। वहीं लंबे समय से गैरहाजिर चल रहे अवर अभियंता सैयद रफत मुईन के निलंबन की संस्तुति उपाध्यक्ष ने की है। सभी गैरहाजिर कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटा गया है। इनसे स्पष्टीकरण भी तलब किया गया है।

लगातार मिल रही थी शिकायतें
जीडीए उपाध्यक्ष को पिछले कई दिनों से कर्मचारियों की उपस्थिति को लेकर शिकायतें मिल रही थीं। सभी प्रमुख कार्यालय का रजिस्टर मंगाकर जांच की गई तो कलई खुल गई। सुबह 10.30 बजे उपस्थिति रजिस्टर जांच की गई तो कई जिम्मेदारी अधिकारी, कर्मचारी से लेकर चपरासी तक अनुपस्थित मिले। 43 इंजीनियर, बाबू और चपरासी अनुपस्थित मिले हैं। एक अवर अभियंता सैयद रफत मुईन लंबे समय से कार्यालय ही नहीं आ रहे जिस पर उनके खिलाफ उपाध्यक्ष ने शासन को निलंबन की संस्तुति की है।

दफ्तरों में छाया था सन्नाटा
उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह का कहना है कि लगातार कर्मचारियों से समय से उपस्थित होकर शासन की मंशा के अनुरूप लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए निर्देशित किया जा रहा था। सुबह 10 बजे पहुंचा तो कई कार्यालयों में सन्नाटा था। उपस्थिति रजिस्टर की जांच की गई तो 89 कर्मचारी ही उपस्थित मिले। वहीं गैरहाजिर 43 कर्मचारियों के खिलाफ एक दिन के वेतन कटौती की कार्रवाई के साथ ही स्पष्टीकरण मांगा गया है। प्राधिकरण के समस्त स्टाफ को चेतावनी दी है कि वह भविष्य में दफ्तर खुलने के समय पर उपस्थित हों। इससे भी कड़ी कार्रवाई आगे होगी।

गायब कर्मचारियों का कटेगा वेतन
जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह के अनुसार, अवर अभियंता राम इकबाल सिंह, सत्य प्रकाश चौधरी, रामेश्वर दुबे गैरहाजिर मिले हैं। इसी तरह वरिष्ठ लिपिक ब्रज भूषण उपाध्याय, लिपिक मनीष तिवारी, नित्यानंद शुक्ला, प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, शशिकांत गुप्ता, राम सिंह यादव, सतीश चंद तिवारी, श्रीमती उषा मिश्रा, सरोज मिश्र, इलियास अहमद, उपेंद्र मिश्र, अरुण कुमार सिंह, इलेक्ट्रीशियन रामाश्रय मल्ल सहित 17 चपरासी चपरासी गायब मिले है। सहायक विधि अधिकारी राकेश के खिलाफ अनुपस्थित रहने पर कार्रवाई की जा रही।

खबरें और भी हैं...