गोरखपुर में ट्रैक्टर ट्राली ने महिला को रौंदा:हादसे के बाद नाराज लोगों ने किया सड़क जाम, मुआवजे की मांग पर अड़ा परिवार

गोरखपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिवार की मांग है कि ट्रैक्टर चालक को तत्काल गिरफ्तार किया जाए और मृतका के परिजनों को मुआवजा दिया जाए। - Dainik Bhaskar
परिवार की मांग है कि ट्रैक्टर चालक को तत्काल गिरफ्तार किया जाए और मृतका के परिजनों को मुआवजा दिया जाए।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में शनिवार की देर शाम एक दर्दनाक हादसा हो गया। चिलुआताल के रामजानकीनगर में गिट्टी लदी एक तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्राली ने अपनी बेटी के साथ स्कूटी से मार्केट करने निकली महिला को रौंद दिया। जिसमें महिला की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि बेटी भी गंभीर रुप से घायल है।

उधर, आरोप है कि हादसे के बाद कुछ स्थानीय लोगों ने ट्रैक्टर चालक को मौके से भगा दिया। जिसके बाद शनिवार की सुबह स्थानीय लोगों ने लाश रामजानकीनगर चौराहे पर रखकर सड़क जाम कर दिया। परिवार की मांग है कि ट्रैक्टर चालक को तत्काल गिरफ्तार किया जाए और मृतका के परिजनों को मुआवजा दिया जाए।

पीछे से ट्रैक्टर ट्राली ने रौंदा
सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों को किसी तरह से समझा बुझाकर मामला शांत कराया और जल्द ही ट्रैक्टर चालक की गिरफ्तारी का आश्वासन भी दिया। चिलुआताल के रामजानकीनगर के रहने वाले अशोक सिंह की पत्नी सरोज सिंह (43) शनिवार की शाम अपनी बेटी प्रियंका के साथ स्कूटी पर अपने मैरिज हॉल प्रतिमा लान पर गई थीं।

वहां से गोरखनाथ मंदिर जाते समय रामजानकीनगर से गोरखनाथ मार्ग पर तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्राली ने पीछे से रौंद दिया। जिससे मां- बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने तत्काल घायलों को मेडिकल कालेज ले गए। जहां डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। वहीं, बेटी को चोटें आई हैं।

ट्रैक्टर चालक को भगाने का आरोप
आरोप है कि हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने ट्रैक्टर चालक को पकड़ने की बजाय उसे मौके से भगा दिया। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद शनिवार की सुबह नाराज परिजनों और स्थानीय लोगों ने रामजानकीनगर चौराहे पर सड़क जाम कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह से समझा बुझाकर किसी तरह से लोगों को शांत कराया। मृतिका की दो बेटियां और दो बेटे हैं। एक बेटा बाहर रहता है। जबकि एक बेटा अभी छोटा है। दोनों बेटियां अपनी मां के साथ ही रहती थीं।

खबरें और भी हैं...