पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर में सीएम योगी का दौरा:आदित्यनाथ बोले-बाल सेवा योजना के तहत 174 बच्चे चिन्हित किए गए हैं, सरकार इनका खर्च उठाएगी, लड़कियों की शादी में भी सहयोग करेगी

गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण ही रक्षा कवच है। - Dainik Bhaskar
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण ही रक्षा कवच है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के दौरे पर हैं। उन्होंने आज गोरखनाथ में कहा कि बाल सेवा योजना के तहत अभी तक 174 बच्चे चिन्हित किए गए हैं, सरकार इनके पालन पोषण का खर्च उठाएगी। इसके साथ ही निराश्रित हुई बालिका के शादी योग्य होने पर सरकार की तरफ से एक लाख एक हजार रुपए भी दिए जाएंगे।

15 करोड़ लोगों को निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 15 करोड़ लोगों को हर महीने निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। देश मे दो वैक्सीन पहले से हैं। अगले माह तक कुछ और वैक्सीन उपलब्ध होगी। सरकार की तरफ से जारी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट के अभियान से सबको जुड़ना होगा। इसके तहत हमारी निगरानी समितियां घर घर जा रही हैं।

कोरोना से निराश्रित हुए बच्चों को खर्च उठाएगी सरकार
उन्होंने बताया कि कोरोना से प्रभावित बच्चों की परवरिश के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत लीगल गार्जियन को बच्चे की उम्र 18 वर्ष होने तक प्रति माह चार हजार रुपए देने की व्यवस्था की गई है। साथ ही इन बच्चों की पढ़ाई लिखाई के लिए बाल संरक्षण गृहों, कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालयों व अटल आवासीय विद्यालयों के जरिये व्यापक कार्ययोजना बनाई गई है। 18 वर्ष से अधिक के बच्चों की उच्च व तकनीकी शिक्षा की निशुल्क व्यवस्था के साथ उन्हें टैबलेट भी दिया जाएगा।

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए पीएम केयर्स फंड की व्यवस्था
सीएम ने कहा कि बाल संरक्षण गृहों में रहने वाले बच्चों के लिए सरकार की तरफ से प्रति माह दो हजार रुपया पहले से ही दिया जाता है। भारत सरकार ने कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए पीएम केयर्स फंड की व्यवस्था की है, जिसमें बच्चे के 23 वर्ष का होने पर 10 लाख रुपए दिए जाने की व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...