पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • CM Yogi Adityanath  Janta Darshan:  CM Yogi Adityanath Instructed To SSP To Take Immediate Action After Found Glut Of Police Complaints In Janta Darshan 

गोरखपुर में CM योगी का जनता दर्शन:CM के सामने आई पुलिस की शिकायतों की भरमार, SSP पर बिफर पड़े योगी; तत्काल एक्शन लेने के दिए निर्देश

गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो दिन जनता दर्शन में सीएम योगी सामने आए 270 मामले, पुलिस विभाग की सबसे अधिक शिकायतें। - Dainik Bhaskar
दो दिन जनता दर्शन में सीएम योगी सामने आए 270 मामले, पुलिस विभाग की सबसे अधिक शिकायतें।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दो दिवसीय गोरखपुर प्रवास के दौरान शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर में जतना दर्शन हुआ। यह दर्शन गोरखपुर पुलिस के लिए काफी दिक्कतों भरा रहा। लगातार दो दिनों के जनता दर्शन में सीएम योगी के सामने पुलिस विभाग से जुड़ी शिकायतों की भरमार लगी रही। इसपर सीएम योगी बिफर पड़े और वहां मौजूद एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु को ऐसे मामलों में तत्काल एक्शन लेने के निर्देश दिए। इतना ही नहीं, सीएम ने एसएसपी को ऐसे थानेदारों के खिलाफ भी जांच कराकर कार्रवाई के निर्देश दिए, जिन थानों पर पीड़ितों की पुलिस ने सुनवाई नहीं की।

पुलिस विभाग की सबसे अधिक शिकायतें
दरअसल, बीते गुरुवार को जतना दर्शन में करीब 120 मामले समाने आए। वहीं, शुक्रवार को भी करीब 150 मामले सीएम योगी के दरबार में पहुंचे। इनमें अधिकांश मामले जमीनी विवाद और पुलिस से जुड़े हुए थे। जबकि कई मामलों में पुलिस की लापरवाही भी खुलकर सीएम के सामने आ गईं। ऐसे में योगी पुलिस विभाग पर पूरी तरह बिफर पड़े। उन्होंने वहां मौजूद अधिकारियों को चेतावनी देते हुए तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस के जब कुछ और मामले सामने आए तो मुख्यमंत्री ने एसएसपी से कहा कि ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें कि फरियादी को थाने पर ही उचित न्याय मिल जाए। जनता दर्शन में आने की नौबत न आए। दोनों दिन जनता दर्शन में मुख्यमंत्री ने करीब 300 लोगों की फरियाद सुनी और समस्या समाधान का आश्वासन दिया।

पुलिस को दिए गए हैं कार्रवाई के निर्देश
हालांकि, एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि जमीनी विवाद के मामलों में बिना राजस्व टीम के पुलिस को हस्ताक्षेप नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। जबकि अन्य बेलघाट के मामले में महिला ने कोर्ट के आदेश पर 156/3 के तहत पहले की केस दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर कार्रवाई कर रही है। कैंट पुलिस को भी केस दर्ज कर मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं। जबकि गोरखनाथ पुलिस ने अगर ऐसा ​किया है तो इसकी जांच कराई जाएगी। पीड़ित की थानों पर ही सुनवाई कर उनकी समस्याओं के सामाधान के निर्देश दिए गए हैं। इसमें लापरवाही बरतने वाले थानेदारों के खिलाफ सख्ती से पेश आया जाएगा।

केस-1
कैंट इलाके की एक महिला ने अपने मायके के एक युवक पर दुष्कर्म और उसकी शादी तुड़वाने का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि युवक ने उसे अपने जाल में फंसाकर दुष्कर्म किया और शादी का भरोसा देकर उसकी शादी भी तुड़वा दी। बाद में युवक शादी से इनकार कर रहा है। इस मामले में महिला ने थाने से लेकर पुलिस अधिकारियों से भी गुहार लगाई थी। शुक्रवार को सीएम के जनता दरबार में पहुंची शिकायत के बाद तत्काल पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। इंस्पेक्टर कैंट सुधीर सिंह ने बताया कि मामले में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

केस- 2
गोरखनाथ इलाके की एक महिला का आरोप है कि उसने काफी पहले एक जमीन खरीदा था। जब भी उसके परिवार के लोग जमीन पर भूमि पूजन कराने जाते, कुछ दबंग लोग विवाद करके उसे रोक देते। महिला का आरोप है कि उसने पुलिस में कई बार ​इसकी शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। शुक्रवार को महिला अपनी समस्या लेकर सीएम के जनता में जा रही थी कि इस बीच बाहर से ही उसे गोरखनाथ पुलिस थाने लेकर चली गई। पुलिस ने महिला को समझाया कि थाने पर ही तत्काल कार्रवाई की जाएगी। जनता दर्शन में जाने की जरूरत नहीं। हालांकि, इस बीच महिला का बेटा भागकर सीएम के दरबार में पहुंच गया। पुलिस को इसकी जानकारी होते ही उसके हाथ-पांव फूल गए और उन्होंने महिला को भी जाने दिया।

केस- 3
जनता दर्शन में दहेज उत्पीड़न का मामला लेकर पहुंची एक महिला ने बेलघाट थानेदार पर आरोप लगाया कि वह अपनी शिकायत लेकर थाने पर गई तो पुलिस ने उसके पति पर ही मुकदमा दर्ज कर दिया। यह सुनकर मुख्यमंत्री बिफर पड़े। पास खड़े एसएसपी दिनेश कुमार पी से कहा कि मामले की तत्काल जांच कराएं और अगर आरोप सही पाया जाता है तो एसओ के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करें। हालांकि बाद में एसएसपी ने बताया कि मामला पारिवारिक विवाद का है। मार्च 2020 में दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कराया है। महिला ने अपने देवर, जेठ व ससुर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है और उसकी देवरानी ने महिला के पति पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है।

खबरें और भी हैं...