गोरखपुर में युवती ने नाबालिग लड़की के साथ किया रेप:फेसबुक पर दोस्ती कर किडनैप किया, फिर डर्टी पिक्चर बनाने ग्वालियर ले गई

गोरखपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोरखपुर की रहने वाली एक नाबालिग लड़की के साथ रेप का मामला आया है। रेप का आरोप एक युवती पर है। पीड़िता 10वीं पास है, जबकि आरोपी ग्वालियर की रहने वाली है। उसने पिपराइच की एक लड़की से फेसबुक के जरिए दोस्ती की। फिर फिल्मों में काम दिलाने का झांसा देकर उसे अपने साथ ग्वालियर ले गई। आरोप है कि वहां उसने नाबालिग लड़की को 10 दिन तक बंधक बनाकर रखा। उसके साथ होमो सेक्स किया और वीडियो भी बना लिया।

पुलिस के अनुसार, वह वीडियो के जरिए एडल्ट फिल्म बनाकर पैसे कमाना चाहती थी। पुलिस उसे गुरुवार को ट्रांजिट रिमांड पर गोरखपुर लाई और कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है।

कुशीनगर की रहने वाली है किशोरी
पीड़िता, मूलरूप से कुशीनगर की रहने वाली है। वह पिपराइच में अपने ननिहाल में रह कर पढ़ाई करती थी। पुलिस के अनुसार, यूट्यूब और फेसबुक चैटिंग के जरिए माधुरी रजावत नाम की एक युवती ने उससे दोस्ती कर ली। 18 जून की रात दो बजे वह गोरखपुर आई। फिर पीड़िता को घर से लेकर चली गई थी। पीड़ित किशोरी के एक बहन और एक छोटा भाई है। वह 10वीं पास है।

दो महीने पहले फेसबुक से युवती से हुई थी बात किशोरी ने बताया कि दो महीने पहले फेसबुक से उसकी दोस्ती मुन्नू नामक लड़की से हुई थी। मन्नू एडल्ट फिल्मों के बारे में बात करती थी। बाद में उसकी दोस्ती माधुरी रजावत से भी फेसबुक से ही हुई। माधुरी ने उसे अमीर बनाने और और फिल्मों में काम दिलाने का लालच दिया। इसीलिए उसके साथ चली गई। पुलिस अब मन्नू की तलाश कर रही है। पुलिस यह भी जांच कर रही है कि क्या माधुरी और मन्नू एक ही हैं? क्या अलग-अलग नाम और फोटो से फेसबुक अकाउंट बनाया था?

पिपराइच थाने में ग्वालियर से छुड़ा कर लाई गई किशोरी। उसे बाल कल्याण समिति भेज दिया गया है।
पिपराइच थाने में ग्वालियर से छुड़ा कर लाई गई किशोरी। उसे बाल कल्याण समिति भेज दिया गया है।

किशोरी को ग्वालियर जाने के बाद गैंग के बारे में पता चला
किशोरी ने बताया कि जब वह ग्वालियर गई, तब पता चला कि माधुरी का बड़ा गैंग है। माधुरी ने किशोरी के साथ संबंध बनाया। इसके अलावा माधुरी ने उसको अपने कई दोस्तों के घर भी भेजा। इस दौरान किशोरी ने किसी तरह अपनी मौसी को फोन कर आपबीती बताई।

पिपराइच थाने के दरोगा विकास मिश्रा ने किशोरी की नानी के दिए दो मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए थे। इसी वजह से किशोरी का फोन आने पर लोकेशन मिल गई और पुलिस ग्वालियर पहुंच गई। पुलिस ने इस प्रकरण में 21 जून को किशोरी के अपहरण का केस दर्ज किया था। पुलिस ने किशोरी को बाल कल्याण समिति भेज दिया है।

पुलिस ने कहा- जेंडर छिपाकर फंसाती है लड़कियों को पुलिस के अनुसार आरोपी युवती कामन जेंडर है। ग्वालियर के लोगों ने पुलिस को बताया कि आरोपी महिला अपना जेंडर छिपाकर बच्चियों को अपने जाल में फंसाती है। उनके साथ संबंध बनाती है। फिर वीडियो बनाकर उसे बेचती है। बाद में बच्चियों से भी पैसे की मांग करती है।

पुलिस का कहना है कि माधुरी रजावत इससे पहले ग्वालियर के टीआई केएन त्रिपाठी पर केबिन में छेड़खानी का आरोप लगा चुकी है। इसकी जांच चल रही है।