दरोगा भर्ती परीक्षा में नकल करने वाले दो गिरफ्तार:डाक्यूमेंट वैरिफिकेशन और शारीरिक परीक्षण में मिले नकल करने के प्रमाण, कानपुर से जुड़ा तार

गोरखपुर2 महीने पहले
गोरखपुर की कैंट पुलिस ने दरोगा भर्ती में नकल करने वाले दो आरोपियों रोहित और संतोष कुमार को गिरफ्तार कर लिया।

दरोगा भर्ती परीक्षा में नकल करने वाले दो लोगों को गोरखपुर की कैंट पुलिस ने ​शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार दोनों की पहचान वाराणसी के फूलपुर के काठीराव निवासी रोहित सरोज पुत्र जयप्रकाश सरोज और बड़ागांव निवासी संतोष कुमार यादव पुत्र सग्गन यादव के रूप में हुई है। पुलिस ने दोनों को कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया।

13 मई को दर्ज कराया गया था केस
कैंट इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि दोनों के खिलाफ अपर पुलिस अधीक्षक और अनुसचिव पुलिस भर्ती बोर्ड ने 13 मई 2022 को दोनों के खिलाफ कैंट थाने में जालसाजी, साजिश और 10 उत्तर प्रदेश सार्वजनिक परीक्षा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया था। दोनों को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रेलवे स्टेशन के पास से पकड़ लिया।

लिखित परीक्षा पास कर लिया था
कैंट इंस्पेक्टर के अनुसार दरोगा भर्ती की परीक्षा 12 नवंबर 2021 से 2 दिसंबर 2021 तक विभिन्न आनलाइन केंद्रों पर हुई थी। दोनों ने आनलाइन नकल कर परीक्षा पास कर लिया था। 13 मई 2022 को दोनों को गोरखपुर पुलिस लाइंस में डाक्यूमेंट वैरिफिकेशन और शारिरीक परीक्षा के लिए बुलाया गया था। जहां इनके नकल करने के प्रमाण पुलिस को मिले थे। जिसके बाद केस दर्ज हुआ था।

20-20 हजार रुपये दिए थे नकल को
पुलिस के अनुसार दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि कानपुर में कोचिंग में पढ़ाई के दौरान उनकी मुलाकात मनोज पाल नामक एक व्यक्ति से हुई। वह दोनों को कानपुर के शुभ कंप्यूटर सेंटर ले गया। कंप्यूटर सेंटर के कर्मचारियों ने बताया कि वे उन दोनों को दरोगा भर्ती परीक्षा नकल से पास करा देंगे। जिसके बाद दोनों ने वहां 20—20 हजार रुपये दिए थे। अब पुलिस उन दोनों की भी तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...