गोरखपुर में ब्रेड फैक्ट्री में लगी आग, फंसे रहे कर्मी:फॉयर ब्रिगेड ने आग पर पाया काबू; 100 कर्मचारियों को बाहर निकाला

गोरखपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ठंड की वजह से फैक्ट्री में रहने वाले मजदूरों ने अलाव जला रखी थी। जिसकी चिंगारी से पूरी फैक्ट्री में आग लग गई। - Dainik Bhaskar
ठंड की वजह से फैक्ट्री में रहने वाले मजदूरों ने अलाव जला रखी थी। जिसकी चिंगारी से पूरी फैक्ट्री में आग लग गई।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में शनिवार की सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। यहां गीडा सेक्टर 13 स्थित क्रेजी ब्रेड व बिस्किट फैक्ट्री में शनिवार की भोर में आग लग गई। सुबह करीब करीब 5 बजे लगी इस आग ने देखते ही देखते भयंकर रुप ले लिया। फैक्ट्री में आग लगने की सूचना से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। वहीं फैक्टरी के अंदर फंसे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। आग के डर से दो मजदूरों ने छत से छलांग लगा दी। जिससे एक को मामूली चोट लगी तो वहीं दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पाते ही पुलिस व फॉयर बिग्रेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई और करीब 4 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया गया।

4 घंटे मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू
उधर, हादसे की खबर मिलते ही एसएसपी डॉ. विपिन टांडा व अग्निशमन विभाग के सीएफओ भी मौके पर पहुंचे। फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियों सहित दोनों अधिकारियों ने खुद मोर्चा संभाला और फैक्ट्री के फंसे 100 मजदूरों को सही सलामत बाहर निकाला गया। पुलिस के मुताबिक फैक्ट्री और उसमें रखा सामान पूरी तरह जलकर खाक हो गया। करीब एक करोड़ रुपए से अधिक के सामान पूरी तरह जल गए। हालांकि नुकसान के सही आंकलन के बारे में जांच की जा रही है।

फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियों सहित दोनों अधिकारियों ने खुद मोर्चा संभाला और फैक्ट्री के फंसे 100 मजदूरों को सही सलामत बाहर निकाला गया।
फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियों सहित दोनों अधिकारियों ने खुद मोर्चा संभाला और फैक्ट्री के फंसे 100 मजदूरों को सही सलामत बाहर निकाला गया।

अलाव से लगी आग
फैक्ट्री के मैनेजर अखिलेश दुबे ने बताया कि फैक्ट्री में कुछ मजदूर भी रहते हैं। जहां ब्रेड और बिस्किट बनाने के लिए आग की भठ्ठियां भी होती है। वहीं, ठंड की वजह से फैक्ट्री में रहने वाले मजदूरों ने अलाव जला रखी थी। जिसकी चिंगारी से पूरी फैक्ट्री में आग लग गई।

उन्होंने बताया कि चूंकि जिस वक्त आग लगी थी, उस समय अधिकांश मजदूर सो रहे थे। ऐसे में बचाव का कोई ठोस प्रयास नहीं हो पाया और आग बढ़ता चला गया। फिलहाल एक करोड़ रुपए से अधिक का सामान जलकर खाक हो गया। नुकसान हुए सामानों का सही आकंलन किया जा रहा है। इंस्पेक्टर गीडा विनय कुमार सरोज ने बताया कि 4 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पर लिया गया। फिलहाल स्थिति सामान्य है। हादसे में कोई हातहत नहीं है, सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया।

आग जिस फैक्ट्री में लगी थी वहां सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं थे। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को गीडा के अन्य फैक्ट्री​​​​​से आग बुझाने के लिए पानी लेना पड़ा। क्रेजी फैक्ट्री के अंदर पर्याप्त पानी के संसाधन नहीं थे। फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा अधिकृत रूप से टीन शेड डालकर कूड़ा कबाड़ा रखा गया था। फैक्ट्री की बाउंड्री तोड़ने के उपरांत काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

खबरें और भी हैं...