पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर को बड़ी सौगात:अगस्त से शुरू हो जाएंगी महंत अवैद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय में ग्रेजुएशन की कक्षाएं...आर्ट्स, साइंस और कामर्स की होगी पढ़ाई

गोरखपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अगस्त से महाविद्यालय में पढ़ाई शुरू हो जाएगी। - Dainik Bhaskar
अगस्त से महाविद्यालय में पढ़ाई शुरू हो जाएगी।
  • 22 साल से लोगों को इस महाविद्यालय का इंतज़ार था।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की पहल पर महंत अवैद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय रसूलपुर चकिया जंगल कौड़िया में ग्रेजुएशन की क्लासेज इसी सत्र से शुरू हो जाएंगी। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय यहां ग्रेजुएशन में आर्ट्स, साइंस व कामर्स की क्लासेज संचालित करने के लिए विषयों की मंजूरी पहले ही दे चुका है। जल्द ही प्रवेश की प्रक्रिया भी तय हो जाएगी। इस बीच जुलाई तक पठन-पाठन एवं कार्यालय संबंधी गतिविधियों को संचालित करने के लिए सृजित किए गए 38 पदों पर शिक्षकों एवं कर्मचारियों की तैनाती भी कर ली जाएगी।

83 लाख रुपए स्वीकृत
सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार के अपने दौरे के पूर्व महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय जंगल कौड़िया गोरखपुर के भवन निर्माण के लिए चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 83 लाख रुपए की वित्तीय स्वीकृति प्रदान कर चुके थे। उनके गोरखपुर आने पर शासनादेश भी जारी हो गया जिसके मुताबिक धनराशि का इस्तेमाल 31 मार्च 2022 तक किया जा सकेगा। इसके अलावा महाविद्यालय में फर्नीचर के लिए 2.34 करोड़ रुपये पहले ही जारी किए जा चुके हैं। राजकीय निर्माण निगम, महाविद्यालय का निर्माण कर रहा है। 30.35 करोड़ के इस प्रोजेक्ट के लिए 28 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी अश्वनी कुमार मिश्रा ने बताया कि मौजूदा सत्र से स्नातक की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।

इन विषयों की चलेंगी क्लासेज
दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय ने महंत अवैद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय को स्नातक कक्षाओं के लिए मान्यता प्रदान की है। कला संकाय में यहां 8 विषयों हिन्दी, अंग्रेजी, गृह विज्ञान, शिक्षा शास्त्र, चित्रकला, राजनीति विज्ञान, इतिहास एवं भूगोल की अनुमति मिली है। इसके अलावा विज्ञान संकाय में भौतिकी, रसायन, गणित, जन्तु विज्ञान, वनस्पति विज्ञान विषय की कक्षाएं तथा वाणिज्य संकाय को संचालित करने की अनुमति है।

21 जून के बाद आएंगे शिक्षक
उच्च शिक्षा विभाग यहां कला संकाय में विषयवार 8 शिक्षक, विज्ञान संकाय में 5 शिक्षक, वाणिज्य के लिए 2 शिक्षक, एक प्राचार्य, एक पुस्तकालय अध्यक्ष एवं 21 शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की नियुक्ति स्थानांतरण के आधार पर कर रहा है। इच्छुक शिक्षकों एवं कर्मचारियों से 21 जून तक आवेदन मांगे गए हैं। उसके बाद तैनाती की प्रक्रिया शुरू होगी।

खत्म हुआ 22 सालों का इंतजार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 मई 2018 को जिले के तीसरे राजकीय महाविद्यालय के रूप में महंत अवैद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय की नींव रखी थी। शिलान्यास की तिथि से जिले में नए राजकीय महाविद्यालय का इंतजार पिछले 22 वर्षो से किया जा रहा था।

1996 में स्थापित हुआ था कैम्पियरगंज में डिग्री कालेज
दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय से सम्बद्ध गोरखपुर जनपद में पंड़ित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय महाविद्यालय सहजनवां एवं वीर बहादुर सिंह राजकीय महाविद्यालय कैम्पियरगंज ही है। जिले का दूसरा विद्यालय कैम्पियरगंज में 1996 में स्थापित हुआ था। जिले में अशासकीय सहायता प्राप्त 11 महाविद्यालय एवं 128 स्व वित्त पोषित महाविद्यालय उच्च शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।

लड़कियों को मिलेगा उच्च शिक्षा का अवसर
हेरिटेज फाउंडेशन की संरक्षिका अनीता अग्रवाल कहती हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर जिले को तीसरा राजकीय महाविद्यालय दिया है। इस महाविद्यालय के निर्माण से कम से कम लागत में उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए छात्रों को अवसर सुलभ होंगे। स्थानीय लोगों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए घर से ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा। इस महाविद्यालय में कला एवं विज्ञान के अलावा वाणिज्य की कक्षाएं भी संचालित होंगी।

खबरें और भी हैं...