• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Hello Dada App Will Connect The Unclaimed People With Their Families, Your One Click Will Take The Missing To Their Homes,Gorakhpur,Gorakhpur News, Gorakhpur Breking News, Hello Dada App, Smile Roti Bank Gorakhpur, Azad Pandey, Good News For Missing Person

गोरखपुर की स्माइल रोटी बैंक की अच्छी पहल:लावारिस लोगों को उनके परिवार से मिलाएगा हैलो दादा ऐप, लापता को उनके घर तक पहुंचाएगा आपका एक क्लिक

गोरखपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो डालते ही स्माइल रोटी बैंक के मेंबर बिछड़े हुए लोगों को ढूंढने में मदद करेंगे। - Dainik Bhaskar
फोटो डालते ही स्माइल रोटी बैंक के मेंबर बिछड़े हुए लोगों को ढूंढने में मदद करेंगे।

गोरखपुर​ जिले में स्माइल रोटी बैंक ने अनोखा अभियान शुरू किया है। देश के किसी भी शहर में भटके- बिछड़े लोगों को मिलाने के लिए 'हैलो दादा' ऐप तैयार किया जा रहा है। इस मुहिम में आम पब्लिक को भी अपनी भागीदारी निभानी होगी।

फोटो अपलोड होते ही मिलेगी मदद

लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए आपको लावारिस हाल में घूम रहे बच्चे, बूढ़़े या संदिग्धों की तस्वीर अपने मोबाइल से खींचकर हैलो दादा एप डालनी होगी। साथ ही यह भी डालना होगा कि वह व्यक्ति कहां और किस हालत में है। इस ऐप पर फोटो डालते ही स्माइल रोटी बैंक के मेंबर उसकी काउंसलिंग कर उसे घर तक पहुंचाने में मदद करेंगे। साथ ही जिनके परिवार के लोग भटके होंगे, वह खुद भी इस एप के जरिए उन्हें ढूंढ सकेंगे।

कई साल से चला रहे अभियान
गोरखपुर में गरीबों को सहारा देने वाली स्माइल रोटी बैंक के संस्थापक आजाद पाण्डेय बताते हैं कि गोरखपुर में कई साल से ऐसा अभियान चला रहे हैं। शहर में सड़क के किनारे बहुत से ऐसे लोग थे, जिनका रूप अपने हाथों से संवारकर इस लायक बनाया कि वो अपना चेहरा आइने में देख सकें। उन्होंने बताया हुलिया बदलने के बाद उन्हें घर तक भी पहुंचाया जाता है। उन्होंने बताया कि बहुत से लोग नेपाल, बिहार या अन्य शहरों से आकर अपनों को तलाशते हुए आते हैं। जिसमें हम उनकी मदद करते हैं। इस पहल से काम और भी आसान हो जाएगा।

तैयार हो जाएगी लाइब्रेरी
आजाद ने बताया कि हैलो दादा ऐप बन जाने से भटके लोगों को खोजना और आसान हो जाएगा। हर शहर से जब आम पब्लिक सड़क पर घूम रहे बेसहारा लोगों की फोटो और उस जगह की लोकेशन ऐप पर अपलोड करेगी। जिसके बाद एक लाइब्रेरी तैयार हो जाएगी। जब भी कोई अपनों को तलाशेगा तो पूरी उम्मीद है कि उसे इस ऐप की मदद से उसका खोया हुआ करीबी मिल जाएगा।

डिजिटल हेल्प से मिल जाएगा परिवार
पूर्वांचल की एक बड़ी वेबसाइट कंपनी के संचालक राहुल मिश्रा ने कहा कि स्माइल रोटी का ये सराहनीय कदम है। HelloDada.co.in एप को करीब करीब हम लोगों ने पूरा तैयार कर ​लिया है। बहुत जल्द ये काम करने लगेगा। इस वेबसाइट के जरिए स्माइल रोटी बैंक, हैलो दादा कैंपेन की एक अच्छी शुरूआत बहुत जल्द कर सकेगी। डिजिटली हेल्प कर आप किसी भी बिछड़े इंसान को मिला सकते हैं।

खबरें और भी हैं...