भाजपा नेता व प्रधान की हत्या करने वाले 7 गिरफ्तार:गोरखपुर में पट्टीदारों ने लाठी- डंडे से पीटकर की थी बेरहमी से हत्या, बीच- बचाव करने गए साले और बेटे को भी पीटे थे मनबढ़

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सहजनवां इलाके के सेमरडाड़ी गांव में भाजपा नेता व प्रधान जेडी रंजन की पीट-पीटकर हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। - Dainik Bhaskar
सहजनवां इलाके के सेमरडाड़ी गांव में भाजपा नेता व प्रधान जेडी रंजन की पीट-पीटकर हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में सोमवार की शाम सहजनवां इलाके के सेमरडाड़ी गांव में भाजपा नेता व प्रधान जेडी रंजन की पीट-पीटकर हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। घटना के 12 घंटे के अंदर ही पुलिस ने इस हत्याकांड में 7 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, पुलिस ने हत्यारोपितों के पास से आलाकत्ल और हत्या में प्रयुक्त लाठी भी बरामद की है। सभी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उन्हें जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।

यह हैं पकड़े गए आरोपित
पकड़े गए आरोपितों की पहचान चन्द्रभूषण उर्फ चिन्ता, मारकण्डे, नित्यानन्द, सत्यानन्द, शिवानन्द, विनय प्रभाकर और विपिन प्रभाकर के रुप में हुई। यह सभी सेमरडाड़ी सहजनवा के रहने वाले हैं। पुलिस के मुताबिक हत्या के बाद से ही पुलिस टीम लगातार आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही थी। जबकि हत्यारोपी शहर से बाहर भागने की फिराक में थे। इस बीच पुलिस ने घेराबंदी कर सभी को दबोच लिया।

पट्टीदारों ने की थी हत्या
दरअसल, यहां सहजनवां इलाके के सेमरडाड़ी गांव में चुनावी रंजिश में सोमवार की शाम भाजपा नेता व प्रधान जेडी रंजन की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। प्रधान जेडी रंजन और उनके साले मिथिलेश सोमवार को पंचायत भवन में मौजूद थे। पंचायत भवन में लगाने के लिए टाइल्स आया था जो खड़ंजा पर एक किनारे रखा हुआ था। इसी बात को लेकर उनका पट्टीदार उलझ गया और फिर दो लोग उसके समर्थन में आ गए। आरोप है कि प्रधान की तीन लोगों ने लाठी डंडे से पिटाई करनी शुरू कर दी।

साले और बेटे की भी मनबढ़ों ने की थी पिटाई
बीच-बचाव करने पर साले को भी उन लोगों ने पीट दिया। शोर सुनकर जब प्रधान का बेटा भी वहां पहुंचा तो मनबढ़ों ने उसे भी पीट दिया। गांव के लोगों ने मामले को शांत कराया और पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया जहां पर मिथिलेश और प्रधान की गंभीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया था। मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान प्रधान जेडी की मौत हो गई।

हत्या के बाद उग्र हो गए थे समर्थक
यह खबर गांव में पहुंचते ही समर्थक उग्र हो गए। समर्थक आरोपी के घर पर भी चढ़ गए थे। इसकी सूचना पर भारी फोर्स गांव में पहुंच गई है। आरोपी घर छोड़कर फरार है। एसपी नार्थ मनोज अवस्थी ने बताया कि मारपीट में घायल प्रधान की मौत हो गई है। गांव में एहतियातन फोर्स तैनात है। आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम लगाई गई है।

चार बच्चों के पिता थे जेडी रंजन
प्रधान जनकधारी उर्फ जेडी रंजन ने रविवार को ही अपने घर का लिंटर डलवाया था। इसके बाद ही वह पंचायत भवन का काम भी शुरू कर आए थे, जिसके लिए टाइल्स उन्होंने मंगाए थे। वह चार बच्चों के पिता थे। बड़ी बेटी वास्तिक रंजन (18), कृतज्ञ राज रंजन (16), बेटी स्पर्धा रंजन (11) व बेटा प्रत्यक्ष राजीव रंजन (7) है।

खबरें और भी हैं...