गोरखपुर में घूसखोर लेखपाल सस्पेंड:जमीन की पैमाइश के लिए घूस लेते कैमरे में कैद हुआ था लेखपाल, DM ने कराया 'स्टिंग ऑपरेशन'; केस भी दर्ज

गोरखपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा ने के निर्देश पर लेखपाल के खिलाफ कैंट थाने में केस भी दर्ज कराया गया है। - Dainik Bhaskar
मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा ने के निर्देश पर लेखपाल के खिलाफ कैंट थाने में केस भी दर्ज कराया गया है।

गोरखपुर में जमीन पैमाइश के नाम पर 16 हजार रुपए घूस लेने वाले हल्का नंबर 65 के लेखपाल प्रवीण कुमार शाही की करतूते कैमरे में कैद होने के बाद शुक्रवार की शाम उसे सस्पेंड कर दिया गया। जबकि गुरुवार को ही DM के निर्देश पर हुए स्टिंग ऑपरेशन में आने के बाद ही SDM सदर/ ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा ने के निर्देश पर लेखपाल के खिलाफ कैंट थाने में केस भी दर्ज कराया गया है। का ही स्टिंग ऑपरेशन कर डाला। जिसमें वे एक आवेदक से जमीन पैमाईश के नाम पर 16,000 रुपए घूस ले रहा था।

SDM सदर ने किया था स्टिंग
दरअसल, गोरखपुर के DM की ओर से लगातार भ्रष्टचार के खिलाफ कराए जा रहे स्टिंग ऑपरेशन की जद में इस बार जिले का राजस्व विभाग ही आ गया। गुरुवार को SDM सदर/ ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा ने इस बार हल्का नंबर 65 के लेखपाल प्रवीण कुमार शाही का ही स्टिंग ऑपरेशन कर डाला। जिसमें वे एक आवेदक से जमीन पैमाईश के नाम पर 16,000 रुपए घूस ले रहा था।

लेखपाल के खिलाफ दर्ज हुआ है केस
जिसे रंगे हाथों रुपए घूस लेते कैमरे में कैद कर लिया गया। लेखपाल के इस करतूत की रिपोर्ट SDM ने DM को सौंप दी। DM विजय किरन आनंद ने लेखपाल के खिलाफ SDM को केस दर्ज कराने के निर्देश दिए। देर शाम नायब तहसीलदार की तहरीर पर कैंट थाने में लेखपाल के खिलाफ केस दर्ज हुआ। जबकि शुक्रवार को SDM सदर कुलदीप मीणा ने लेखपाल को सस्पेंड करते हुए उसके खिलाफ विभागीय जांच कराने के निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...