• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Manish's Pulse And BP Were Not Found In Mansi Hospital Only, The Police Said Please Apply The Ointment; There Are Minor Injuries, SIT Will Reveal The Secrets Of Death From CCTV And Hotel Staff

मनीष गुप्ता हत्याकांड में बड़ा खुलासा:मानसी अस्पताल में ही नहीं मिला था डॉक्टरों को मनीष का पल्स व BP, पुलिस बोली- मरहम पट्टी तो कर दीजिए; मामूली चोटें हैं, CCTV और होटल कर्मचारी से SIT खोलेगी मौत के राज

गोरखपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पहले दिन की ही जांच में SIT के हाथ एक नहीं बल्कि कई ऐसे अहम सुराग लगे हैं, जिससे जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है। - Dainik Bhaskar
पहले दिन की ही जांच में SIT के हाथ एक नहीं बल्कि कई ऐसे अहम सुराग लगे हैं, जिससे जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है।

कानपुर से दोस्तों संग गोरखपुर घुमने आए मनीष गुप्ता की पुलिस की पिटाई से मौत के मामले में गोरखपुर पहुंची कानपुर की SIT टीम ने वारदात की परतों को हटाना शुरू कर दिया है। पहले दिन की ही जांच में SIT के हाथ एक नहीं बल्कि कई ऐसे अहम सुराग लगे हैं, जिससे जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है। वहीं, टीम अब होटल कृष्णा पैलेस और मानसी हास्पिटल में लगे CCTV फुटेज और होटल कर्मचारी से पूछताछ के आधार में मौत से जुड़े राज खोलने में जुट गई है। कुछ ही देर में SIT टीम मानसी हास्पिटल जाकर वहां भी फॉरेंसिक जांच करेगी।

टीम यह पता करने की कोशिश में जुटी है कि किसके दबाव में होटल कर्मचारी आर्दश पांडेय ने घटना के तत्काल बाद ही होटल से मनीष के खून के धब्बों को साफ कर दिया था।
टीम यह पता करने की कोशिश में जुटी है कि किसके दबाव में होटल कर्मचारी आर्दश पांडेय ने घटना के तत्काल बाद ही होटल से मनीष के खून के धब्बों को साफ कर दिया था।

होटल कर्मचारी खोलेगा राज- किसके कहने पर मिटाया सबूत
दूसरी ओर अभी टीम यह पता करने की कोशिश में जुटी है कि किसके दबाव में होटल कर्मचारी आर्दश पांडेय ने घटना के तत्काल बाद ही होटल से मनीष के खून के धब्बों को साफ कर दिया था। जबकि सीसीटीवी फुटेज और अस्पताल की टाइमिंग ही अब पुलिस वालों के गले की फांस बन रही है। इतना ही नहीं, SIT की सीन रिक्रीएट करने के दौरान भी गिरकर इतनी गंभीर चोटें लगने की बात फिलहाल सामने नहीं आ रही है। जबकि बेंजाडीन टेस्ट में पुलिस ने जमीन की सतह के मिटाए गए सबूत भी SIT ने जुटा लिए हैं। होटल में एक नहीं बल्कि कई जगहों से मिटाए गए खून के धब्बे बेंजाडीन टेस्ट में सामने आ गए।

मानसी अस्पताल के डॉक्टर पंकज दीक्षित ने भी इस मामले में बड़ा खुलासा किया है।
मानसी अस्पताल के डॉक्टर पंकज दीक्षित ने भी इस मामले में बड़ा खुलासा किया है।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही निकल चुका था काफी खून
इन सबके अलावा मानसी अस्पताल के डॉक्टर पंकज दीक्षित ने भी इस मामले में बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा है कि घटना वाली रात करीब 12.30 से एक बजे के बीच पुलिस एक घायल को लेकर पहुंची थी। पुलिस ने कहा ​था कि चेकिंग के दौरान एक युवक घायल हो गया है। इसकी मरहम- पट्टी कर दीजिए। चेकअप के दौरान ही मरीज का बीपी (ब्लड प्रेशर) और पल्स नहीं मिल रहा था। डॉक्टर ने बताया कि ऐसे में हमने तत्काल बीआरडी मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया। डॉक्टर पंकज दीक्षित ने साफ तौर पर कहा है कि घायल के अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसके शरीर से काफी अधिक खून निकल चुका था। शायद इसी वजह से उसकी पल्स और बीपी हमें नहीं मिली।

SIT की अलग- अलग टीमें एक साथ होटल कृष्णा पैलेस, मानसी हास्पिटल और बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इस मामले की पड़ताल कर रही है।
SIT की अलग- अलग टीमें एक साथ होटल कृष्णा पैलेस, मानसी हास्पिटल और बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इस मामले की पड़ताल कर रही है।

CBI से पहले SIT कर सकती है बड़ा खुलासा
वहीं, शनिवार की रात 11 बजे तक इस मामले की परत खोलने पहुंची कानपुर SIT रविवार की सुबह से ही जांच में जुटी हुई है। SIT की अलग- अलग टीमें एक साथ होटल कृष्णा पैलेस, मानसी हास्पिटल और बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इस मामले की पड़ताल कर रही है। जबकि खबर यह भी आ रही है कि यह केस CBI के टेकओवर करने से पहले ही इस मामले में कानपुर पुलिस SIT की रिपोर्ट पर जल्द ही आरोपितों की गिरफ्तारियां कर बड़े खुलासे कर सकती है। SIT चीफ व कानपुर के एडिशनल पुलिस कमिश्नर आनंद कुमार तिवारी ने बताया कि हमारी कई टीमें इस दिशा में काम कर रही हैं। फिलहाल इतनी जल्दी इस मामले में कुछ भी कहना उचित नहीं होगा, अगर सभी का सहयोग मिला तो उम्मीद है कि जल्द ही हमारी टीम इस मामले से जुड़े सभी तथ्यों का जुटाकर मौत का राजफाश कर देगी।

खबरें और भी हैं...