UP के कमजोर बूथों से 2024 चुनाव जीतेगी BJP:सांसद को 200 और विधायक को 50 बूथ की मिली जिम्मेदारी, 'सरल एप' पर डेटा होगा फीड

गोरखपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेटा फीड के लिए बूथ प्रशिक्षण कार्यक्रम में बीजेपी के नेता। - Dainik Bhaskar
डेटा फीड के लिए बूथ प्रशिक्षण कार्यक्रम में बीजेपी के नेता।

बीजेपी ने 2024 लोकसभा चुनाव में यूपी की सभी सीटें जीतने के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है। पीएम नरेंद्र मोदी के निर्देश पर मास्टर प्लान तैयार किया गया है। बीजेपी नेतृत्व का मानना है कि 2022 ​विधानसभा चुनाव में यूपी के जिन बूथों पर पार्टी कमजोर रही या अन्य पार्टियों से कम वोट मिले थे, उसे मजबूत किया जाए।

साथ ही जीते हुए बूथ पर भी पार्टी अभी से लोगों से संपर्क कर रही है और कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बता रही है। पार्टी नेताओं के अनुसार, कमजोर बूथों को मजबूत बनाने के लिए हर सांसद को 200 बूथ और विधायक को 50 बूथ की जिम्मेदारी दी गई है।

कमजोर बूथों को चिह्नित किया गया

बूथ सशक्तिकरण अभियान के जिला संयोजक भाजपा जिला महामंत्री ब्रह्मानंद शुक्ल ने बताया कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने सभी कमजोर बूथों के आंकड़ों को चिह्नित किया है। उसकी मजबूती पर विशेष जोर दिया जा रहा है। सभी कमजोर बूथों को हर हाल में मजबूत किया जाएगा।

बूथ प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होते चौरीचौरा के बीजेपी विधायक सरवन निषाद और अन्य नेता।
बूथ प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होते चौरीचौरा के बीजेपी विधायक सरवन निषाद और अन्य नेता।

अभियान के तहत सांसद और विधायक के साथ बूथ समिति के लोग आम लोगों के बीच जाएंगे। चर्चा करेंगे कि मोदी-योगी के नेतृत्व में हो रहे विकास के बावजूद बूथ पर भाजपा कमजोर है, तो क्यों? जनता को एहसास दिलाया जाएगा कि अगर भाजपा सरकार लोगों को लाभकारी योजनाओं के माध्यम से लाभान्वित कर रही है तो लोगों की भी जिम्मेदारी बनती है कि अपने बूथों पर भाजपा को जिताए।

सरल एप में कमजोर बूथों का डाटा होगी फीड
भाजपा केंद्रीय ​नेतृत्व ने सरल एप लॉन्च किया है। इस एप में 2024 लोकसभा चुनाव पर काम करने के लिए बूथों से संबंधित तमाम तरह के डेटा और आंकड़ों को भी इकठ्ठा किया जा रहा है। गोरखपुर में इसके लिए बुधवार को आईटी सेल की ओर से प्रशिक्षण भी दिया गया।

इस दौरान चौरीचौरा से भाजपा विधायक सरवन निषाद और चिल्लूपार के विधायक राजेश त्रिपाठी भी शामिल रहे। सरल एप के माध्यम से बूथों के सभी आंकड़ों को पेपरलेस किया जा रहा है। आने वाले समय में संगठन के सभी आंकड़े सरल ऐप पर होंगे। एप में स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विशेष निगरानी में डाटा की फीडिंग की जा रही है।

गोरखपुर में इन बूथों पर मिले थे कम वोट

बीजेपी कार्यकर्ता बूथ का काम करने के लिए प्रशिक्षण लेते हुए।
बीजेपी कार्यकर्ता बूथ का काम करने के लिए प्रशिक्षण लेते हुए।

गोरखपुर सदर सीट के मंदिर से सटे मुस्लिम बाहुल्य इलाके चक्सा हुसैन के पांच बूथ ऐसे भी हैं, जहां ​2022 विधानसभा चुनाव में बीजेपी और उसके प्रत्याशी सीएम योगी आदित्यनाथ को कम वोट मिले थे। इन बूथों पर सीएम को महज नौ से लेकर 30 वोट ही प्राप्त हुए। यह जानकारी चुनाव बाद भाजपा महानगर इकाई की समीक्षा में सामने आई थी। पार्टी ने बूथवार आंकड़े भी जारी किए थे।

  • चक्सा हुसैन के बूथ संख्या 267 जनप्रिय विहार द्वितीय में सीएम को महज 9 वोट मिले। इस बूथ पर कुल 1,016 मतदाताओं में से 456 ने वोट डाला था। यानी कुल पड़े मत के सापेक्ष 1.97 फीसदी वोट मिले।
  • बूथ संख्या 217 चक्सा हुसैन प्रथम में महज 15 वोट मिले। यहां 1,166 वोटर्स थे, जिनमें से 588 ने वोट डाला था। यानी कुल मतदान के 2.55 फीसदी वोट मिले।
  • बूथ संख्या 264 जनप्रिय विहार द्वितीय में सीएम को 18 वोट मिले। इस बूथ पर कुल 998 मतदाता थे। जिनमें से 573 ने वोट डाला था। यानी कुल मतदान के 3.14 फीसदी वोट मिले।
  • बूथ संख्या 218 चक्सा हुसैन प्रथम में 25 वोट मिले। बूथ पर कुल 1,144 मतदाता थे। इनमें से 564 ने मतदान किया था। यानी कुल मतदान के 4.43 फीसदी वोट मिले।
  • बूथ संख्या 219 चक्सा हुसैन प्रथम में 30 मत मिले। यहां कुल 1,127 मतदाता थे, जिनमें से 610 वोटर्स ने वोट डाला था। यानी कुल मतदान के 4.49 फीसदी वोट मिले।