• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Murderer Cops Vijay Yadav And Rahul Dubey Arrested, Preparing To Be Sent To Jail In The Dark Of Night; Police Has Already Arrested Inspector JN Singh And Inspector Akshay Mishra

मनीष गुप्ता हत्याकांड...हत्यारोपी दरोगा राहुल और कांस्टेबल प्रशांत भी गिरफ्तार:गोरखपुर में रात के अंधेरे में जेल भेजने की तैयारी; दो गिरफ्तारी 10 अक्टूबर को हो चुकी है

गोरखपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसपी ने बताया कि दो अन्य आरोपित पुलिस वालों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी करने वाली टीम से गिरफ्तारी की जगह और अन्य चीजों की जानकारी ली जा रही है। - Dainik Bhaskar
एसपी ने बताया कि दो अन्य आरोपित पुलिस वालों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी करने वाली टीम से गिरफ्तारी की जगह और अन्य चीजों की जानकारी ली जा रही है।

मनीष गुप्ता हत्याकांड में आरोपी दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एसपी सिटी सोनम कुमार ने बताया कि दो अन्य आरोपित पुलिस वालों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों के ऊपर 1 लाख रुपए का इनाम था। वहीं बताया जा रहा है कि हत्यारोपित दरोगा विजय यादव और राहुल दुबे को रामगढ़ताल इलाके से ही गिरफ्तारी दिखाई जाएगी। रात के अंधेरे में दोनों को जेल भेजने की तैयारी है।

दो दिन पहले हुई थी इंस्पेक्टर और दरोगा की गिरफ्तारी

इस मामले के दो मुख्य हत्यारोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को बीते रविवार को ही पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। दोनों इस वक्त मंडलीय कारागार में कैद हैं। 6 आरोपितों में अधिकांश के घरों और रिश्तेदारों के ठिकानों पर पुलिस की 16 टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।

इस मामले में दर्ज केस में SIT ने साक्ष्य मिटाने और किसी वारदात को एक साथ मिलकर अंजाम देने का केस भी दर्ज किया है। जबकि अब तक की जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर SIT इस मामले में हत्या के केस में चार्जशीट लगा सकती है।

कई और को आरोपी बना सकती है SIT

फिलहाल SIT ने आरोपितों की रिमांड के लिए अब तक कोर्ट में कोई आवेदन नहीं दिया है। SIT अधिकारी सभी आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही उनकी रिमांड लेंगे। दरअसल, इस मामले में रामगढ़ताल थाने पर तैनात कुल 6 पुलिस वालों को आरो​पी बनाया गया है। जबकि कहा यह भी जा रहा है कि SIT इस मामले में कुछ और लोगों को भी 120 बी के तहत आरोपी बना सकती है।

तहरीर में इन 6 पुलिसकर्मियों के नाम

मृतक की पत्नी मीनाक्षी ने पुलिस को दी तहरीर में 6 पुलिसकर्मियों को हत्या का दोषी ठहराते हुए नामजद किया था। इनमें इंस्पेक्टर रामगढ़ताल जेएन सिंह, चौकी इंचार्ज फलमंडी अक्षय मिश्रा, सब इंस्पेक्टर विजय यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, जबकि तहरीर में नामजद किए गए सब इंस्पेक्टर राहुल दुबे, हेड कांस्टेबल कमलेश यादव, कांस्टेबल प्रशांत कुमार की जगह 3 अज्ञात ​पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज हुआ।

टाइम लाइन में जाने कब क्या हुआ

  • 27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के होटल में पुलिसवालों पर मनीष को पीट-पीटकर मारने का आरोप लगा।
  • 28 सितंबर को पोस्टमॉर्टम के बाद तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या की FIR और 6 को सस्पेंड किया गया।
  • 29 सितंबर की सुबह परिजन शव लेकर कानपुर पहुंचे। सीएम से मिलने की जिद पर अड़े थे। अंतिम संस्कार करने से भी इनकार किया।
  • 30 सितंबर सुबह 5 बजे मनीष का अंतिम संस्कार किया गया।
  • 10 सितंबर की शाम रामगढ़ताल पुलिस ने इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को किया गिरफ्तार।
खबरें और भी हैं...