पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Namaz Offered Amidst Tight Security; Congratulating Each Other, The Process Of Traditional Sacrifice Continues,Gorakhpur, Gorakhpur News, Eid Al Azha, Bakrieid, Breking News Gorakhpur News Today

गोरखपुर में मनाई जा रही ईद-अल-अजहा:कड़ी सुरक्षा के बीच शहर की 92 मस्जिदों में अदा की गई नमाज; एक- दूसरे को बधाई देकर परंपरागत कुर्बानी का सिलिसिला जारी

गोरखपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुबह से ही कड़ी सुरक्षा के बीच बकरीद की नमाज अदा की गई। इसके बाद से कुर्बानी का सिलसिला जारी है। - Dainik Bhaskar
सुबह से ही कड़ी सुरक्षा के बीच बकरीद की नमाज अदा की गई। इसके बाद से कुर्बानी का सिलसिला जारी है।

त्याग और बलिदान का प्रतिक ईद-अल-अजहा (बकरीद) उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में परंपरागत ढंग से मनाया जा रहा है। इसे लेकर बीते कई दिनों से तैयारियां जोरों पर थी। इस दौरान जिले भर में सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह चाक चौबंद रही। सुबह से ही कड़ी सुरक्षा के बीच बकरीद की नमाज अदा की गई। इसके बाद से कुर्बानी का सिलसिला जारी है। लोग एक- दूसरे से मिलकर उन्हें बधाई दे रहे हैं।

शांति व सौहार्द पूर्वक त्योहार मनाने की अपील
दरअसल, बकरीद के त्योहार को कुर्बानी के दिन के रूप में भी याद किया जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक रमजान के दो महीने बाद कुर्बानी का त्योहार बकरीद आता है। पुलिस अधिकारी सुबह से शहर भर में दौरा कर रहे हैं। साथ ही वे लोगों से शांति व सौहार्द पूर्वक त्योहार मनाने की अपील कर रहे। मुस्लिम समुदाय ने इस पर्व में कुर्बानी के लिए बकरा सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी की। इसे लेकर मंगलवार की शाम तक बाजार पूरी तरह गुलजार रहा।

साफ-सफाई में जुटा नगर निगम
कुर्बानी के लिए लोगों ने अपनी हैसियत के मुताबिक बकरे की खरीदारी की। कुर्बानी देने के बाद उसका अंश अपने परिवार व दोस्तों को खिलाने व गरीबों के बीच बांटने की भी परंपरा है। वहीं, नगर निगम की टीम की ओर से लगातार सभी ईदगाह व मस्जिदों के आसपास में साफ-सफाई की जा रही है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि पर्व के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों में सर्किल अफसर व पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से त्योहार को मनाने की अपील की जा रही है।

92 मस्जिदों में नमाज अदा की गई
शहर की 92 मस्जिदों में ईद अल अजहा की नमाज आद की गई। इनमें शाहर जामा मस्जिद उर्दू बाजार, मदीना मस्जिद रेती, ईदगाह चिलमापुर, ईदगाह हजरत मुबारक खां शहीद, ईदगाह सेहरा बाले का मैदान, ईदगाह बेनीगंज, ईदगाह इमामबाड़ा इस्टेट, ईदगाह फतेहपुर, ईदगाह रानीडिहा, ईदगाह पुलिस लाइन, गुलशने मदीना मस्जिद जेल बाईपास, अकबरी मस्जिद, जामा मस्जिद रसूलपुर, जामा मस्जिद गोरखनाथ, जामा मस्जिद लतीफनगर, मस्जिद बिछिया पीएसी कैंप, शिया जामा मस्जिद समेत 92 मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की गई। कोरोना की वजह से ईदगाहों और प्रमुख मस्जिदों के बाहर मेले जैसा मंजर नजर नहीं आया। नमाज और कुर्बानी से फुर्सत पाने के बाद दावतों का दौर शुरू हुआ। घरों में मिलने-मिलाने और दावतों का सिलसिला चलता रहा। लोगों ने गोश्त के पकवानों के अलावा लजीज सेवइयां, दहीबड़ा, छोले समेत कई पकवानों का लुत्फ उठाया।

खबरें और भी हैं...