पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Reprimanded The Officials Of Municipal Corporation, PWD And Water Corporation; Said If Water Does Not Come Out In Two Days, Then Be Ready To Take Action,Gorakhpur, Gorakhpur News, Nagar Nigam, PWD, Jal Nigam Gorakhpur, Rain In Gorakhpur, Water Corporation, Breking News Gorakhpur, Gorakhpur News Today

बारिश डूबे शहर पर कमिश्नर खपा:नगर निगम, PWD और जलनिगम के अधिकारियों को लगाई फटकार; बोले- दो दिन में पानी नहीं निकला तो कार्रवाई को तैयार रहें अधिकारी

3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कमिश्नर ने गुरुवार को अधिकारियों संग समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने जिम्मेदारों को साफ तौर पर चेतावनी दी। - Dainik Bhaskar
कमिश्नर ने गुरुवार को अधिकारियों संग समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने जिम्मेदारों को साफ तौर पर चेतावनी दी।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में तीन दिनों की बारिश थमने के बाद जलमग्न हुई शहर की कालोनियों पर खफा कमिश्नर रवि कुमार एनजी ने नगर निगम, पीडब्ल्यूडी और जल निगम के अफसरों कों जमकर फटकार लगाई। इसे लेकर कमिश्नर ने गुरुवार को अधिकारियों संग समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने जिम्मेदारों को साफ तौर पर चेतावनी दी कि अगर दो दिन के अंदर सभी कालोनियों से पानी नही निकला तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

ऐसे लापरवाह अफसरों के खिलाफ शासन को पत्र लिखा जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि जलनिकासी की तत्काल ठोस कार्य योजना बनाई जाए। कहीं नाला तोड़कर दूसरे नाले के निर्माण की जरूरत हो तो उसे भी किया जाए।

कुछ भी करें...लेकिन सामाधान निकालें
कमिश्नर ने अधिकारियों से दो टूक शब्दों में कहा कि कुछ भी करे लेकिन जलभराव की समस्या का स्थायी समाधान निकलना चाहिए। उन्होंने तीनों विभागों के अभियंताओ को निर्देश दिया कि जहां- जहां जलभराव बना हुआ है। वहां मौके का निरीक्षण करें और वहीं पर मौजूद रहकर पानी निकासी की व्यवस्था बनाएं। बैठक के दौरान मेडिकल रोड के दोनों तरफ की दर्जन भर से अधिक कालोनियों में जलभराव की समस्या पर चर्चा हुई। सही स्थिति जानने के लिए कमिश्नर ने बैठक में उस क्षेत्र के तीन पार्षदों बृजेश सिंह छोटू, राजेश तिवारी और आलोक सिंह विशेन को भी बुलाया था।

ढाई से एक मीटर कर दी गई नाले की चौड़ाई
वहीं, पार्षदों ने बताया कि मेडिकल कालेज फोर लेन के किनारे पहले नाले की चौड़ाई ढाई मीटर थी। कालोनियों का पानी तेजी से निकल जाता था। मगर अब नए नाले की चौड़ाई सिर्फ एक मीटर रखी गई है। कालोनियों के नाले से इस मुख्य सड़क के नाले की ऊंचाई अधिक होने की वजह से भी पानी नही निकल पा रहा। सामान्य दिनों में भी बिना बारिश के कई कालोनियों की सड़कों पर नाली का गंदा बदबूदार पानी फैला रहता है। हर साल जलभराव फिर भी सबक नही लेते जिम्मेदार

पहले किए गए होते इंतजाम तो नहीं होती दिक्कत
कमिश्नर ने पीडब्ल्यूडी, नगर निगम और जल निगम के अफसरों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हर साल जलभराव होता है। फौरी इंतजाम किए जाते हैं और बारिश का मौसम खत्म होते ही तीनों विभागों के जिम्मेदार सब कुछ भूल जाते हैं। यदि बारिश का मौसम शुरू होने के पहले ही सक्रिय होकर जलनिकासी के ठोस इंतजाम किए जाते तो आज हजारों की संख्या में लोगों को जलभराव से तमाम तरह की परेशानियों का सामना नही करना पड़ता। उन्होंने अफसरों से कहा कि तत्काल जल निकासी का प्रबंध करने के बाद इस समस्या को खत्म करने के लिए ठोस कार्ययोजना तैयार की जाए।

अफसरों पर होगी कार्रवाई
कमिश्नर रवि कुमार एनजी ने बताया कि शहर के कई मोहल्लों में अभी भी पानी लगा हुआ है। नगर निगम, जल निगम और लोक निर्माण विभाग के अफसरों को निर्देश दिए गए हैं कि वाटर पम्पों की संख्या बढ़ाने के साथ ही जलनिकासी के लिए जो भी जरूरी हो उसका प्रबंध किया जाए। दो दिन में सभी इलाकों से पानी नही निकला तो संबंधित विभाग के जिम्मेदारों पर कार्रवाई की जाएगी। जलभराव से निजात के लिए ठोस प्लानिंग करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...