गोरखपुर में PM मोदी ने भोजपुरी से शुरू किया भाषण:बोले- जवने खाद कारखाना अउर एम्स के इंतजार रहल, आज उ घड़ी आ गइल; आप सबके बहुत बहुत बधाई

गोरखपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोजपुरी में अपने संबोधन की शुरुआत कर पीएम मोदी ने खाद कारखाना परिसर में जुटे पूर्वांचल के लोगों का दिल जीत लिया। - Dainik Bhaskar
भोजपुरी में अपने संबोधन की शुरुआत कर पीएम मोदी ने खाद कारखाना परिसर में जुटे पूर्वांचल के लोगों का दिल जीत लिया।

धर्म, अध्यात्म अउर क्रांति के नगरी गोरखपुर के देवतुल्य लोगन के प्रणाम करत बानी। परमहंस योगानंद, महायोगी गुरु गोरखनाथ, भाई जी हनुमान प्रसाद पोद्दार, महाबलिदानी पंडित रामप्रसाद बिस्मिल के पावन धरती के कोटि कोटि नमन। आप सब लोग जवने खाद कारखाना अउर एम्स के बहुत दिन से इंतजार करत रहलीं, आज उ घड़ी आ गइल बा। आप सबके बहुत बहुत बधाई।"

पूर्वांचल के लोगों का जीत लिया दिल
यह हूबहू मजमून प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस संबोधन का है जो उन्होंने मंगलवार को गोरखपुर में खाद कारखाना, एम्स और आरएमआरसी के लोकार्पण समारोह के दौरान शुरू में कही। भोजपुरी में अपने संबोधन की शुरुआत कर पीएम मोदी ने खाद कारखाना परिसर में जुटे पूर्वांचल के लोगों का दिल जीत लिया। पीएम के भोजपुरी बोलते ही भीड़ का उत्साह वहां लगने वाले गगनचुंबी नारों से समझ मे आ रहा था। मोदी-मोदी के गूंज के बीच पीएम लोगों के मन में बसते दिखे।

पब्लिक का उत्साह देख गदगद हुए मोदी
लोगों के मनोभाव को उन्होंने खूब समझा भी। और, भोजपुरी बोली से खड़ी बोली पर आते ही इसे अपने शब्दों में पिरो भी दिया। मोदी ने अभिवादन के बाद कहा कि उन्हें वह यह देख रहे हैं कि जिन लोगों तक उनकी आवाज पहुंच भी नहीं पा रही है, जहां वह दिखाई भी नहीं दे रहे होंगे, वहां से भी लोग झंडा दिखा रहे हैं। कहा कि आप लोगों का यही आशीर्वाद काम करने की प्रेरणा, ऊर्जा और ताकत देता है।

सपा पर हमलावर दिखे पीएम मोदी
हालांकि अपने पूरे संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ उत्तर प्रदेश खासकर पूर्वांचल में हो रहे विकास कार्यों की ही चर्चा करते रहे। लेकिन इस दौरान वह समाजवादी पार्टी पर जमकर हमलावर दिखे। लाल टोपी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। कहा कि 'आज पूरा यूपी भलीभांति जानता है कि लाल टोपी वालों को लाल बत्ती से मतलब रहा है। इन्हें आपके दुख-तकलीफों से कोई मतलब नहीं है।'

प्रधानमंत्री बोले, 'लाल टोपी वालों को घोटालों के लिए, अपनी तिजोरी भरने के लिए, अवैध कब्जों के लिए, माफियाओं को खुली छूट देने के लिए सत्ता चाहिए। लाल टोपी वालों को सरकार बनानी है, आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए, आतंकियों को जेल से छुड़ाने के लिए। याद रखिए, लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट हैं, यानी खतरे की घंटी।'