• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Said Immense Opportunities For Development And Employment In The Field Of Spiritual Tourism, Heritage Tourism And Eco tourism In Uttar Pradesh And Purvanchal

CM योगी ने काफी टेबल बुक ‘गोरक्षनगरी’ का किया लोकार्पण:बोले- उत्तर प्रदेश एवं पूर्वांचल में स्पिरिचुअल टूरिज्म, हेरिटेज टूरिज्म और इको टूरिज्म के क्षेत्र में विकास और रोजगार की अपार संभावनाएं

गोरखपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश एवं पूर्वांचल में स्पिरिचुअल टूरिज्म, हेरिटेज टूरिज्म और इको टूरिज्म के क्षेत्र में विकास और रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। पिछले दिनों तीन इको पर्यटन सर्किट गोरखपुर-सोहगीबरवा सर्किट, आगरा-चंबल सर्किट और वाराणसी-चंद्रकांता सर्किट का ड्राई रन कराया गया। इन सर्किट को लोकप्रिय बनाने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

हेरिटेज फाउंडेशन ट्रस्ट ने कराई बुक
सीएम योगी आदित्यनाथ, शुक्रवार को गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर में वन विभाग गोरखपुर वन प्रभाग एवं हेरिटेज फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा निर्मित गोरखपुर वन प्रभाग पर पहले इको टूरिज्म पर आधारित कॉफी टेबल बुक ‘गोरक्षनगरी’ का विमोचन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गोरखपुर वन प्रभाग द्वारा किए जा रहे ऐसे प्रयासों से इको टूरिज्म को लोकप्रिय बनाने के साथ उसकी ओर पयर्टकों को आकर्षित करने में सफलता मिलेगी। लोकार्पण के दौरान डीएफओ गोरखपुर वन प्रभाग विकास यादव, जिलाधिकारी विजय किरण आनंद, मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह, हेरिटेज फाउंडेशन के ट्रस्टी नरेंद्र कुमार मिश्र, हेरिटेज एवियंस से मनीष चौबे मौजूद रहे।

इको टूरिज्म को बढ़ावा देने की कोशिश
गोरखपुर वन प्रभाग एवं हेरिटेज फाउंडेशन ने इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए तत्कालीन डीएफओ आईएफएस अविनाश कुमार के सहयोग से 8.30 मिनट का वृत्त चित्र एवं 2.40 मिनट का वृत्तचित्र बना चुका है। विश्व पयर्टन दिवस 27 सितंबर 2020 को सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर से इन दोनों फिल्मों का लोकार्पण किया था जिसे यू ट्यूब पर 25 लाख से अधिक लोगों ने अब तक देखा है। यह इको टूरिज्म पर कॉफी टेबल बुक उसी श्रृंखला की कड़ी है।

धार्मिक ऐतिहासिक स्थलों के साथ प्रकृति का सौदर्य भी संग्रह
डीएफओ विकास यादव ने कहा कि इस कॉफी टेबल बुक में पक्षियों की तस्वीरे और उनके बारे में संक्षिप्त जानकारी के साथ विशाल नैसर्गिक झील रामगढ़ का कायाकल्प, शहीद अशफाक उल्ला प्राणी उद्यान, गोरखनाथ मंदिर, पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर का स्टेशन, योगीराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह, महंत दिग्विजयनाथ पार्क, सर्किट हाउस, राप्ती नदी के राजघाट पर निर्मित गुरु गोरक्षनाथ के नाम पर पूर्वी और प्रभु श्रीराम के नाम पर पश्चिमी तट का सुंदरीकरण, फरेंदा स्थित परगापुर ताल,पर्यटन संवर्धन योजना के मद्देनजर अध्यात्मिक दृष्ट से प्रतिष्ठित बुढ़िया माता मंदिर, तरकुलहा देवी मंदिर, मानसरोवर मंदिर, गोरखनाथ मंदिर, लेहड़ा देवी मंदिर के सौदर्यीकरण,ऐतिहासिक स्थलों चौरीचौरा शहीद स्मारक, तरकुलहा शहीद बंधू सिंह स्मारक, डोहरिया कलां, जिला जेल स्थित अमर शहीद पंडित रामप्रसाद बिस्मिल स्मारक समेत अन्य स्थलों की जानकारियां दी गई हैं। इस काफी टेबल बुक में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर आर्किटेक्ट अनुपम अग्रवाल, चंदन प्रतीक, धीरज सिंह, कार्तिक मिश्रा, मनीष कुमार और संगम दूबे की तस्वीरें हैं।

खबरें और भी हैं...