योगी बोले- पार्टी जहां से कहेगी वहां से लडूंगा चुनाव:गोरखपुर में कहा - यूपी की कानून व्यवस्था पूरे देश में नजीर, साढ़े 4 सालों में कोई दंगा नहीं हुआ

लखनऊ/ गोरखपुर22 दिन पहले
शुक्रवार देर शाम सीएम योगी ने गोरखपुर में मीडियाकर्मियों संग बातचीत की।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा 2022 चुनाव को लेकर सभी दल अपनी जोर आजमाइश में लगे हैं। इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने चुनाव में खुद के लड़ने को लेकर पहली बार टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि पार्टी जहां से कहेगी, वह वहां से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए पार्टी का संसदीय बोर्ड है। किसे कहां से चुनाव लड़ाना है, इसका निर्णय उसी बोर्ड में ही होता है। बता दें कि यूपी के सियासी गलियारों में पिछले कई महीनों से सीएम की सीट को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। कभी उनके गोरखपुर से चुनाव लड़ने की बात उठती तो कभी अयोध्‍या से।

दरअसल, शुक्रवार देर शाम सीएम योगी गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में थे। वहां मीडियाकर्मियों संग मुलाकात की और अनौपचारिक चर्चा की। यहां सीएम ने कहा कि मैं तो हमेशा चुनाव लड़ा हूं। इस दौरान उन्होंने साढ़े 4 साल के अपने कार्यकाल में प्रदेश में आए सकारात्मक बदलावों की भी विस्तार से चर्चा की।

कई महीनों से CM की सीट को लेकर अटकलें लगाई जा रहीं थीं
सीएम ने कहा कि 2017 में जब हम सरकार में आए तो सबसे बदतर स्थिति कानून व्यवस्था की थी। लेकिन, आज यूपी की कानून व्यवस्था पूरे देश में नजीर है। साढ़े 4 सालों में कोई दंगा नहीं हुआ। दीपावली समेत सभी पर्व शांतिपूर्वक संपन्न हुए।

उन्होंने कहा कि अयोध्या में दीपोत्सव का उत्तर प्रदेश का आयोजन वैश्विक मंच पर छा गया है। दिवाली तो हमारे आने के पहले से मनाई जाती रही है। प्रयागराज में कुंभ भी पहली बार नहीं हुआ था। लेकिन, तब यूपी के सामने पहचान का संकट था।

कोयला संकट में खरीदी 22 रुपए यूनिट बिजली, पर नहीं होने दी राज्य में किल्लत
सीएम ने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश के बारे में कहा जाता था कि जहां से अंधेरा शुरू होता है, वह यूपी है। लेकिन, आज यह धारणा उलट हो गई है। पूरे उत्तर प्रदेश में बिना भेदभाव पर्याप्त बिजली आपूर्ति हो रही है। उन्होंने बताया कि कोयला संकट के दौरान प्रदेश ने 22 प्रति यूनिट तक की दर से बिजली खरीदी। लेकिन, राज्य के लोगों को कोई परेशानी नहीं होने दी।

यूपी निवेश के लिए बेस्ट डेस्टिनेशन
सीएम ने कहा कि साढ़े 4 साल में यूपी में बड़े पैमाने पर निवेश हुआ है। मोबाइल डिस्प्ले बनाने वाली कंपनी भारत में नहीं थी, चीन में थी। कोरोनाकाल में इसे यूपी में लाए। पहले भारत से निवेश बाहर जाता था, आज बाहर से निवेश भारत में आ रहा है। इसमें उत्तर प्रदेश 'बेस्ट डेस्टिनेशन' बना है। शानदार रोड कनेक्टिविटी और सुरक्षा की गारंटी का इसमें बड़ा योगदान है। पहले कहा जाता था कि जहां सड़क में गड्ढे शुरू हों, वहीं यूपी है। लेकिन, आज यूपी की पहचान एक्सप्रेस-वे और फोर लेन सड़कों से होती है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से 60 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार
सीएम ने बताया कि इसी माह पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन होने जा रहा है। प्रधानमंत्री ने इसका प्रेजेंटेशन देखा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से 60 लाख लोगों को रोजगार मिला है। साढ़े 4 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई और इतनी पारदर्शिता से की कोई अंगुली नहीं उठा सकता।

योगी के चुनाव लड़ने के बयान पर सपा प्रवक्ता का तंज
समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया कहते हैं कि भाजपा का कोई भी नेता कहीं से चुनाव लड़ ले, चाहे मुख्यमंत्री हों या उप मुख्यमंत्री, जनता इस बार इन सबको सबक सिखाएगी। जनता ने मूड बना लिया है। भाजपा अपने कारनामों की वजह से इस बार आउट और समाजवादी पार्टी इन होने वाली है।

खबरें और भी हैं...