पुलिस की पिटाई से मौत का मामला!:मृतक मनीष की पत्नी गोरखपुर में बोलीं- होटल में चेकिंग के दौरान पति को पीटकर मार डाला, ये हत्या है

गोरखपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोरखपुर पहुंची मीनाक्षी गुप्ता ने कहा- बीजेपी नेता से शिकायत करने पर पुलिस वालों ने मेरे पति को मार डाला। - Dainik Bhaskar
गोरखपुर पहुंची मीनाक्षी गुप्ता ने कहा- बीजेपी नेता से शिकायत करने पर पुलिस वालों ने मेरे पति को मार डाला।

गोरखपुर के रामगढ़ ताल में पुलिस वालों की पिटाई से एक युवक की जान चली गई। इस मामले में मृतक की पत्नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। मामला कानपुर के युवक मनीष गुप्ता की मौत का है। मनीष की पत्नी मीनाक्षी मंगलवार को गोरखपुर पहुंचीं। मीनाक्षी ने बताया कि सोमवार रात करीब 12.30 बजे मनीष ने उन्हें फोन पर बताया था कि होटल में पुलिस वाले उन्हें परेशान कर रहे हैं। मनीष के भांजे BJP के नेता हैं। मीनाक्षी ने कहा- मेरे कहने पर मनीष ने लखनऊ में BJP नेता दुर्गेश बाजपेयी को फोन कर पुलिस की शिकायत की। इसी बात से नाराज होकर पुलिस वाले उन पर टूट पड़े। उन्हें इस कदर पीटा कि उनकी मौत हो गई।

रो-रोकर बोलीं- उजड़ गई मेरी दुनिया मीनाक्षी का रो-रोकर बुरा हाल है। वह कहती हैं कि पति की मौत के बाद अब उनकी दुनिया ही उजड़ गई है। उधर, मीनाक्षी की उंगली पकड़े खड़े अविराज को अभी यह भी नहीं पता कि उसके पिता कहां हैं। मीडिया के सवालों के बीच मासूम अपने पिता के बारे में रो-रोकर पूछता रहा- पापा कहां हैं मम्मी? मीनाक्षी ने कहा कि परिवार के लोगों से बात कर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज कराया जाएगा। यहां केस नहीं दर्ज हुआ, तो अपनी गुहार लेकर शासन तक जाएंगे।

मीनाक्षी का कहना है कि पुलिस ने किसी तरह का दबाव तो नहीं दिया, लेकिन पति की मौत के मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं कर रही।
मीनाक्षी का कहना है कि पुलिस ने किसी तरह का दबाव तो नहीं दिया, लेकिन पति की मौत के मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं कर रही।

मीनाक्षी का आरोप- पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
मीनाक्षी अपने पिता और ससुर के साथ सबसे पहले बीआरडी मेडिकल कॉलेज स्थित पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचीं। वहां पुलिस व पीएसी के साथ अधिकारियों ने भी उन्हें घेर लिया। मीनाक्षी का कहना है कि पुलिस ने किसी तरह का दबाव तो नहीं दिया, लेकिन पति की मौत के मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं कर रही। अब तक सिर्फ 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है।

मीनाक्षी ने बताया कि रात करीब 12.30 बजे मनीष ने उन्हें फोन कर बताया कि यहां होटल में पुलिस वाले आकर उन्हें परेशान कर रहे हैं।
मीनाक्षी ने बताया कि रात करीब 12.30 बजे मनीष ने उन्हें फोन कर बताया कि यहां होटल में पुलिस वाले आकर उन्हें परेशान कर रहे हैं।

8 साल पहले हुई थी शादी, 4 साल का बेटा तलाश रहा पिता को मीनाक्षी ने बताया कि 8 साल पहले 2013 में उनकी मनीष से शादी हुई थी। मनीष रियल एस्टेट का काम करते थे। परिवार में बीमार ससुर के अलावा उनका एक 4 साल का बेटा अविराज गुप्ता है। उन्होंने बताया कि रात में मनीष से हुई बात के बाद लगा कि शायद सब कुछ ठीक हो गया होगा, लेकिन सुबह करीब 5 बजे फोन पर पता चला कि मेरे पति अब इस दुनिया में नहीं हैं। इसके बाद हम लोग गोरखपुर पहुंचे।

परिवार में बीमार ससुर के अलावा उनका एक 4 साल का मासूम बेटा अविराज गुप्ता है।
परिवार में बीमार ससुर के अलावा उनका एक 4 साल का मासूम बेटा अविराज गुप्ता है।
मीडिया के सवालों के बीच मासूम अपने पिता को रो- रोकर पूछता रहा, पापा कहां हैं?
मीडिया के सवालों के बीच मासूम अपने पिता को रो- रोकर पूछता रहा, पापा कहां हैं?

चेकिंग के बहाने पुलिस ने पीट-पीटकर मार डाला था मनीष को

गोरखपुर की रामगढ़ ताल पुलिस ने दोस्तों संग कानपुर से गोरखपुर आए मनीष गुप्ता को होटल के कमरे में चेकिंग के बहाने पीट-पीट कर मार डाला। मामला सरकार की जानकारी में आने के बाद अब तक इस हत्या को हादसा बताने वाले एसएसपी गोरखपुर डॉ. विपिन ताडा को कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने शासन के आदेश पर रामगढ़ ताल इंस्पेक्टर जेएन सिंह, फलमंडी चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा और 4 सिपाहियों समेत 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। इस मामले की जांच एसपी नॉर्थ को सौंपी गई है।

खबरें और भी हैं...